भारत पूर्व चैंपियन इंडोनेशिया को 4 -1 से हराकर दावेदारी बरकरार

भारत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए मंगलवार को पूर्व चैंपियन इंडोनेशिया को 4 -1 से हराकर सुदीरमन कप मिक्स्ड टीम बैडमिंटन चैम्पियनशिप के नॉकआउट में पहुंचने की अपनी दावेदारी बरकरार रखी।
पहले मुकाबले में सोमवार को डेनमार्क से 1-4 से हारने के बाद भारत को टूर्नामेंट में बने रहने के लिए इंडोनेशिया को हर हालत में हराना था। किदांबी श्रीकांत और पीवी सिंधु ने बेहतरीन प्रदर्शन किया, जबकि अनुभवी अश्विनी पोनप्पा ने सैत्विकसैराज रांकीरेड्डी और एन सिक्की रेड्‍डी के साथ मिक्स्ड डबल्स और महिला डबल्स मुकाबले जीते। डेनमार्क और भारत, दोनों ने अब एक-एक मुकाबला जीता है। नॉकआउट का फैसला बुधवार को इंडोनेशिया और डेनमार्क के मैच के बाद होगा।
इंडोनेशिया अगर डेनमार्क को हरा देता है तो फिर फैसला मैचों की संख्या, गेम और अंकों के आधार पर होगा। नौवीं वरीयता प्राप्त भारत अभी तक सिर्फ 2011 में नॉकआउट तक पहुंचा है, जबकि पिछले दो सत्र में ग्रुप स्टेज से आगे नहीं बढ़ सका है।
भारत की नई मिक्स्ड डबल्स जोड़ी अश्विनी और रांकीरेड्डी ने शानदार शुरुआत करते हुए तोंतोवी अहमद और ग्लोरिया एमैन्युअल को 22- 20, 17-21, 21-19 से हराया। यह मैच एक घंटा, छह मिनट तक चला। दुनिया के पूर्व तीसरे नंबर के खिलाड़ी और हाल ही में सिंगापुर ओपन के फाइनल में जगह बनाने वाले श्रीकांत ने जोनाथन क्रिस्टी को 21-15, 21-16 से मात देकर स्कोर भारत के पक्ष में 2-0 कर दिया। रांकीरेड्डी और चिराग शेट्टी को दुनिया की नंबर एक जोड़ी मार्कस एफ गिडेयोन और केविन संजय एस ने 21-9, 21-17 से हराया। इसके साथ इंडोनेशिया ने स्कोर 1-2 कर दिया।
ओलिंपिक रजत पदक विजेता सिंधु ने फित्रियानी फित्रियानी को 21-9, 21-19 से मात देकर भारत को 3-1 की अजेय बढ़त दिलाई। पांचवें मैच में अश्विनी और एन सिक्की रेड्‍डी ने दुनिया की 15वें नंबर की जोड़ी डेल्ला डेस्तियारा हैरिस और रोसिता एकापुत्री को 21-12, 21-19 से पराजित किया।

चूहों के स्पर्म को नौ महीनों तक स्पेस में रखा गया धरती पर स्वस्थ चूहों का जन्म संभव

फ्रीज किए गए सूखे हुए चूहों के स्पर्म को नौ महीनों तक स्पेस में रखा गया, इसके बाद उसे धरती पर लाकर स्वस्थ चूहों के बच्चों का जन्म संभव हुआ है। यह जानकारी जापानी शोधकर्ताओं ने दी। मगर, अब सवाल उठ रहा है कि क्या इंसानों के मामले में भी ऐसा किया जा सकता है।
यदि हां तो क्या अंतरिक्ष में भी गर्भाधान संभव है? क्या जीरो ग्रेविटी में पैदा होने वाले बच्चे पृथ्वी में जन्म लेने वाले बच्चों की तुलना में अलग विकसित होंगे? नासा और अन्य वैश्विक अंतरिक्ष एजेंसियां 2030 के दशक तक लोगों को मंगल ग्रह पर भेजने के लिए काम कर रही हैं। ऐसे में विशेषज्ञों का कहना है कि लाल ग्रह पर जीवन के अस्तित्व के महत्वपूर्ण सवाल की अक्सर अनदेखी की जाती है।
रॉकेट वैज्ञानिकों को यह पता नहीं है कि इंसान मंगल ग्रह पर कैसे जिएंगे और कैसे सांस लेंगे। इसके अलावा यह भी पता नहीं है कि दो-तीन साल की यात्रा के दौरान मिलने वाले शक्तिशाली कॉस्मिक विकिरण का सामना वे कैसे करेंगे? द जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन एंड हेल्थ साइंसेज में एमरजेंसी मेडिसिन के सहायक प्रोफेसर क्रिस लेहेंहार्ट ने कहा दूसरे ग्रहों पर बस्ती बसाने के लिए अहम है कि वहां बच्चों का जन्म हो।
स्पेसएक्स के प्रमुख एलोन मस्क मंगल पर बस्ती बसाने को लेकर प्रतिबद्ध हैं। यह गहरे अंतरिक्ष या माइक्रोग्राविटी में पैदा होने वाले मनुष्यों की नई प्रजाति की क्षमता के बारे में नैतिक प्रश्न उठाती है। उन्होंने कहा कि यदि आपका लक्ष्य अंतरिक्ष में रहने वाली प्रजाति को तैयार करना है, तो यह जरूरी है कि इस क्षेत्र में अध्ययन किया जाए।

3 साल पहले 26 मई 2014 को नरेंद्र मोदी की अगुवाई में केंद्र की सत्ता पर काबिज हुई एनडीए की सरकार

करीब 3 साल पहले 26 मई 2014 को नरेंद्र मोदी की अगुवाई में केंद्र की सत्ता पर काबिज हुई एनडीए की सरकार अब तक किए गए काम का प्रचार करने में लगी है, वहीं विपक्ष सरकार की नाकामियों को उजागर करने का दावा कर रहा है। इस बीच सोमवार को एबीपी न्यूज-सीएसडीएस-लोकनीति का सर्वे आया है, जिसके अनुसार अगर आज चुनाव हो जाएं तो मोदी सरकार फिर से सत्ता में आ सकती है। एनडीए के वोट शेयर में 7 फीसदी का इजाफा हो सकता है।
किसे-कितनी सीटें
एनडीए-331 2014 में- 335
यूपीए-104 2014 में-60
अन्य-108 2014-148
(1 मई से 15 मई के बीच 19 राज्यों की 146 विधानसभा सीटों पर सर्वे हुआ। इसमें 11373 लोगों की राय ली गई।)
पूर्वी भारत में फायदा
सर्वे के मुताबिक बिहार, प. बंगाल, ओडिशा, झारखंड और पूर्वोत्तर के राज्यों में एनडीए को 142 में से 71 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है, जो 2014 के मुकाबले 16 ज्यादा है। यूपीए को तीन सीटों के नुकसान के साथ 25 सीटें मिल सकती हैं। ओडिशा, बंगाल और असम में एनडीए को फायदा हो सकता है। बिहार, झारखंड और उत्तर भारत में नुकसान बिहार और झारखंड में उसे कुछ सीटों का नुकसान हो सकता है।
भ्रष्टाचार के आरोपों से लालू यादव को कोई खास नुकसान नहीं पहुंचेगा। वहीं, उप्र, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब जैसे उत्तर भारत के राज्यों में एनडीए को कुछ सीटों का नुकसान हो सकता है। यहां कुल 151 सीटों में एनडीए को 116 सीटें मिल सकती हैं जो 2014 के मुकाबले 15 कम है। यूपीए को 15 सीटें मिल सकती हैं जो पहले से 9 ज्यादा है।
पश्चिम-मध्य भारत में भी नुकसान
गुजरात, मप्र में एनडीए को मामूली घाटा हो सकता है। पश्चिम-मध्य भारत में कुल 118 सीटें हैं जहां एनडीए को 105 सीटें मिलने का अनुमान है जबकि 2014 में उसे यहां 109 सीटें मिली थीं। इस क्षेत्र में यूपीए को 12 सीटें मिल सकती हैं जो 2014 के मुकाबले 3 ज्यादा है। पश्चिम मध्य भारत में एनडीए का वोट शेयर बढ़ सकता है।
सर्वे में इस क्षेत्र में एनडीए को 56 प्रतिशत वोट मिलने का अनुमान है जो 2014 के मुकाबले 3 प्रतिशत ज्यादा है।दक्षिण भारत में फायदासर्वे के मुताबिक दक्षिण भारत की कुल 132 सीटों में एनडीए को 39 सीटें मिल सकती हैं जो 2014 के मुकाबले सिर्फ एक कम है। एनडीए को आंध्र प्रदेश और केरल में फायदा हो सकता है। यूपीए को 52 सीटें मिल सकती हैं जो 2014 के मुकाबले 29 ज्यादा है।

इंदौर मध्यप्रदेश के यात्रियों से भरी बस गंगोत्री हाईवे पर गहरी खाई में गिरी

गंगोत्री धाम से दर्शन कर लौट रही इंदौर मध्यप्रदेश के यात्रियों से भरी बस गंगोत्री हाईवे पर नालूपानी के पास गहरी खाई में गिरी। जिसमें 21 यात्रियों की मौके पर ही मौत हुई। तीन यात्रियों का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है, जबकि 6 घायल यात्रियों को रेस्क्यू कर निकाला गया है।
भागीरथ निवासी बेटमा (इंदौर), अंजू देवी दौलतपुर बेटमा (इंदौर), बलीराम चौहान बेटमा (इंदौर), जीतेंद्र चौधरी, बेटमा (इंदौर), भावना, बेटमा (इंदौर) नामक सभी 6 घायलों को करीब के ही अस्पताल में भर्ती कराया गया है। रेस्क्यू किए गए अन्य 3 यात्रियों की भी शिनाख्त की जा रही है।
मंगलवार सुबह को गंगोत्री धाम के दर्शन करने के बाद इंदौर मध्यप्रदेश के 57 यात्रियों का दल दो बसों में सवार होकर वापस लौटा। चालक परिचालक समेत 31 यात्री एक बस में थे तथा 30 यात्री दूसरी बस में सवार थे। दोनों बसे आगे पीछे चल रही थी। शाम करीब छह बजे 30 यात्रियों से भरी बस उत्तरकाशी से 25 किलोमीटर दूर ऋषिकेश की ओर गंगोत्री हाईवे पर नालूपानी में बस अनियंत्रित होकर 300 मीटर गहरी खाई में गिरी।

टीम इंडिया 24 मई को रवाना होगी भारत का पहला मुकाबला पाकिस्तान से

इंग्लैंड में 1 जून से खेली जाने वाली चैंपियंस ट्रॉफी के लिए टीम इंडिया 24 मई को रवाना होगी। भारतीय टीम मुंबई से लंदन के लिए रवाना होगी। यानी आईपीएल फाइनल के दो दिनों बाद टीम चैंपियंस ट्रॉफी में अपना खिताब बचाने के अभियान के लिए रवाना होगी।
इस टूर्नामेंट में भारतीय टीम को अपना पहला मैच 4 जून को खेलना है। इस मुकाबले में टीम इंडिया को अपनी कट्टर विरोधी पाकिस्तान की टीम से दो-दो हाथ करने होंगे। पाकिस्तान के साथ मुकाबले से पहले भारतीय टीम के पास खुद को इंग्लैंड की परिस्थितियों में ढालने के लिए और पाकिस्तान को पस्त करने की तैयारी के लिए 7-8 दिन का समय मिलेगा।
टीम इंडिया को चैंपियंस ट्रॉफी के लिए 24 मई को रवाना होना है, लेकिन इंग्लैंड जाने से पहले टीम इंडिया के तीन खिलाडी आईपीएल फाइनल खेलेंगे। रोहित शर्मा और हार्दिक पांड्या मुंबई इंडियंस की तरफ से और महेंद्र सिंह धोनी राइजिंग पुणे सुपरजायंट की ओर से खेलेंगे। इन खिलाड़‍ि यों को आईपीएल खत्म होने के बाद परिजनों के साथ बिताने के लिए ज्यादा समय नहीं मिल पाएगा।

आत्मघाती हमले की आशंका

ब्रिटेन के मैनचेस्टर एरीना में हुए बमा धमाकों में 19 लोगों की मौत और 50 के घायल होने के बाद इसे आतंकी हमला माना जा रहा है। पुलिस धमाकों की जांच कर रही है वहीं प्रधानमंत्री थेरेसा में ने आपात बैठक बुलाई है। जानकारी के अनुसार एरीना में अमेरिकी सिंगर आरियाना ग्रांडे के कांसर्ट के दौरान हुए धमाके के बाद देर रात अफरा-तफरी मच गई।
ऐसी हालत में वहां बने गुरुद्वारे ने घायलों और डरे हुए लोगों को शरण दी और खाना उपलब्ध करवाया। गुरुद्वारे के हरजिंदर एस कुकरेजा ने ट्वीट कर लोगों को बताया कि जो भी चाहे गुरद्वारा पहुंच सकता है। उन्होंने ट्वीट में गुरुद्वारे का पता भी दिया। यह देख कुछ और स्थानीय लोग भी मदद के लिए आगे आए और मदद के लिए ट्वीट किया। इसके चलते लोगों ने गुरुद्वारे में शरण ली जहां उन्हें आराम और खाने का सामान उपलब्ध करवाया गया।
खबरों के अनुसार कांसर्ट के दौरान एरीना के फोयर एरिया में धमाका हुआ और वहां एक युवक का शव बरामद हुआ है जिसके बाद इस बात की आशंका जताई जा रही है कि यह एक आत्मघाती हमला था। इस हमले को अब तक का सबसे बुरा हमला माना जा रहा है। हालांकि अब तक किसी आतंकी संगठन ने इसकी जिम्मेदारी नहीं ली है। इससे पहले 2005 में लंदन में हुए धमाकों मे 52 लोग मारे गए थे और 700 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

अरविंद केजरीवाल लैंड पूलिंग योजना को लेकर किसानों से करेंगे सीधा संवाद

विधानसभा व नगर निगम चुनाव में उम्मीद के विपरीत नतीजे आने के बाद आम आदमी पार्टी (आप) ने एक बार फिर दिल्ली के लोगों से बेहतर जुड़ाव और संवाद के लिए संगठन निर्माण का काम शुरू किया है।
पार्टी के संयोजक व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लैंड पूलिंग योजना को लेकर किसानों से सीधा संवाद करेंगे।
जिसके तहत 25 मई को वह पश्चिमी दिल्ली के मटियाला एवं नजफगढ़ क्षेत्र में किसानों से बात करने जाएंगे। सोमवार को भी दिल्ली सचिवालय में मुख्यमंत्री किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल से मिले।
दिल्ली के अलग-अलग गांवों से आए किसान लैंड पूलिंग योजना को मंजूरी देने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद देने आए थे।
‘आप’ के प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने सोमवार को प्रेस वार्ता में बताया कि दिल्ली वालों से संवाद के लिए ही रविवार को ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत’ नाम से कैंपेन शुरू किया गया है।
पंजाबी बाग में आयोजित पार्टी के राज्य स्तरीय सम्मेलन में दिल्ली में पार्टी के तीन हजार मंडल अध्यक्षों की नियुक्तिया की गई हैं।
जल्द ही सात सौ मंडल अध्यक्षों की नियुक्तियां और की जाएंगी। पार्टी दिल्ली में हर बूथ पर संगठन को मजबूत करेगी ताकि जनता से सीधा संवाद स्थापित किया जाए सके।

रेत के अवैध डम्परों पर हुई कार्रवाई के बाद रेत के दाम में तेजी

राजधानी में एंट्री करने वाले रेत के अवैध डम्परों पर हुई कार्रवाई के बाद रेत के दाम में तेजी आ गई है। एक महीने के भीतर रेत के भाव 3 हजार रुपए से अधिक तक बढ़ गए हैं। बाजार में इन दिनों के एक ट्रक रेत 16 से 17 हजार रुपए में बिक रही है, जबकि जिला प्रशासन द्वारा अवैध डम्परों के खिलाफ की गई कार्रवाई से पहले एक ट्रक रेत (500 क्यूबिक फिट) की कीमत करीब 13 हजार रुपए थी।
बाजार के जानकारों का मानना है कि सरकार द्वारा नर्मदा नदी के किनारों से वैध और अवैध तरीके से हो रहे रेत खनन पर रोक लगाने से भविष्य में निर्माण कार्य ठप रहने की आशंका बढ़ गई है। बाजार में रेत की उपलब्धता कम होने से इसकी कालाबाजारी भी बढ़ जाएगी और रेत और महंगी होने के आसार हैं।
जानकारी के मुताबिक अवैध डम्परों पर कार्रवाई के बाद ही राजधानी में कम मात्रा में रेत आ रही है। पहले शहर में होशंगाबाद, रायसेन और सीहोर जिले से 500 ट्रक रेत आती थी, वहीं इन दिनों रेत के 300 ट्रक ही आ रहे हैं। यही कारण है कि एक महीने पहले एक ट्रक रेत जहां 13000 रुपए की थी। अब 16 से 17 हजार रुपए तक पहुंच गई है।
दो साल पहले 45 से 50 हजार तक बिकी थी रेत
एनजीटी द्वारा नर्मदा नदी से रेत खनन पर रोक लगाने के आदेश के बाद दो साल पहले रेत के दाम में खासा इजाफा हुआ था। रेत 45 से 50 हजार रुपए ट्रक तक पहुंच गई थी।
बढ़ जाएगी प्रोजेक्ट की लागत और समय
रियल एस्टेट और संरचना उद्योग का मानना है कि रेत खनन पर रोक के बाद रेत की किल्लत जारी रहती है तो परियोजनाओं की लागत बढ़ेगी और उन्हें पूरा करने में भी अधिक समय लगेगा।
प्रशासन सख्त हो तो रुके अवैध खनन
शासन स्तर पर रोक के आदेश तो समय-समय पर जारी होते रहते हैं लेकिन जिला प्रशासन को सख्ती बरतनी होगी तभी अवैध खनन पर रोक लगाई जा सकती है। भोपाल में तवा डैम से रेत का परिवहन जारी रहेगा।

राज्यमंत्री लालसिंह आर्य के इस्तीफे की मांग को लेकर सीएम हाउस के बाहर धरना

राज्यमंत्री लालसिंह आर्य के इस्तीफे की मांग को लेकर नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह सीएम हाउस के बाहर धरना देने पहुंचे। इस दौरान उनके साथ बड़ी संख्या में कांग्रेस नेता मौजूद थे जो विधायक की हत्या के आरोपी मंत्री आर्य के इस्तीफे की मां कर रहे थे। कांग्रेस के प्रदर्शन को देखते हुए इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।
सीएम हाउस के सामने बैठने के बाद अजय सिंह ने कहा कि जब कोर्ट ने लालसिंह आर्य को आरोपी बताया है तो उसके बाद वे कैसे मंत्री पद पर रह सकते हैं। सीएम को तुरंत उन्हें मंत्रीपद से हटाना चाहिए।इसके बाद पुलिस ने अजय सिंह, आरिफ अकील और डॉ गोविंद सिंह को गिरफ्तार कर लिया।
गोहद से कांग्रेस विधायक माखनलाल जाटव की 13 अप्रैल 2009 को छरेंटा गांव में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या के वक्त विधायक जाटव तब लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी डॉ. भागीरथ प्रसाद की चुनावी सभा के बाद आकर अपनी बोलेरो में बैठे थे।
इसी दौरान उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। तब हत्या के बाद ही डॉ. प्रसाद ने पुलिस को दिए बयान में लाल सिंह आर्य और अशोक अर्गल पर हत्याकांड के लिए फंडिंग करने का शक जाहिर कर आरोप लगाया था। साथ ही यह भी कहा था कि माखनलाल की हत्या से भाजपा और लाल सिंह आर्य को फायदा हो सकता है।

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज अगुआ जेम्स एंडरसन चोट के कारण खेल में हिस्सा नहीं ले पाए

इंग्लैंड के तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ जेम्स एंडरसन ग्रोइन (पेट और जांघ के बीच का भाग) की चोट के कारण शनिवार को यार्कशायर के खिलाफ लंकाशायर की ओर से दूसरे दिन के खेल में हिस्सा नहीं ले पाए और उनका मैच में आगे खेलना भी संदिग्ध है। उनकी चोट का सोमवार को स्कैन होगा ताकि चोट की गहराई का अंदाजा हो सके।
टेस्ट क्रिकेट में इंग्लैंड के सबसे सफल गेंदबाज एंडरसन को शुक्रवार को पहले दिन के खेल के दौरान ग्रोइन की चोट के कारण मैच के बीच से पैवेलियन लौटना पड़ा था। इस 34 वर्षीय तेज गेंदबाज को लंकाशायर की ओर से अगले चार चैंपियनशिप मैचों में हिस्सा लेना था।
एंडरसन सीमित ओवरों का क्रिकेट नहीं खेलते इसलिए उनके पास लॉर्ड्स में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 6 जुलाई से होने वाले पहले क्रिकेट टेस्ट के लिए उबरने के लिए पर्याप्त समय है। एंडरसन 122 टेस्ट मैचों में 467 विकेट चटका चुके हैं, जिसमें मैच में 5 विकेट 21 बार और 10 विकेट तीन बार अपने नाम कर चुके हैं। उनका टेस्ट में एक पारी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 43 रन देकर 7 विकेट है। इसके अलावा उन्होंने वन-डे में 194 मैच खेलकर 269 विकेट अपनी झोली में डाले हैं, जिसमें उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 23 रन देकर 5 विकेट है।