मध्य प्रदेश में छह मंदिर पहाड़ों पर

मध्य प्रदेश में स्थित नौ ख्यात देवी मंदिरों में से छह मंदिर पहाड़ों पर हैं। इनमें मैहर की शारदा माता, सलकनपुर की बिजासन माता और देवास की मां तुलजा भवानी, दतिया की रतनगढ़ माता, टीकमगढ़ की आर्चु माता, बुरहानपुर का इच्छादेवी मंदिर शामिल हैं। इनमें से मैहर की मां शारदा देवी मंदिर और देवास की मां तुलजा भवानी मंदिर में क्षरण की परेशानी सबसे ज्यादा सामने आई है।
मैहर के मंदिर का क्षरण रोकने के लिए तो स्थानीय लोगों ने प्रशासन को जगाने के लिए लंबी लड़ाई लड़ी। एक मिनट में 50 भक्तों को दर्शन, प्रांगण में 10 मिनट से ज्यादा ठहराव नहीं और यहां तक कि नारियल भी पहाड़ के नीचे ही फोड़े जाने जैसे कड़े नियम मानने में भी कोई गुरेज नहीं है। हालांकि देवास में पहाड़ से क्षरण के बावजूद ऐसे कोई बड़े प्रयास नहीं किए गए।
मैहर के देवी मंदिर के रखरखाव की जिम्मेदारी निभा रहे इंजीनियर एसबी सिंह कहते हैं नारियल के पानी की धार से मार्बल कट रहे थे और छिलकों से कई बार आग लगने जैसी घटनाएं सामने आईं। इसके बाद नारियल फोड़ने पर रोक लगा दी गई। पहाड़ी के नीचे ही नारियल फोड़ने की अनुमति है। इसके अलावा पहाड़ों पर सीमेंट का स्प्रे, बड़े पैमाने पर प्लांटेशन, ऊपर बने हवन कुंड, छोटे-छोटे निर्माण और हजारों टन मिट्टी हटाकर भार कम करने की कोशिश की गई। भारी वाहन पहले से ही प्रतिबंति हैं।
मंदिर का मामला एनजीटी तक ले जाकर गाइडलाइन जारी करवाने वालों में से एक सामाजिक कार्यकर्ता और एडवोकेट नित्यानंद मिश्रा का कहना है, माना कि 2016 में निर्देश आने के बाद काफी काम हुआ, लेकिन अब नए टेक्नीकल सर्वे की जरूरत है। इससे यह पता लगाया जा सके कि मंदिर की भार क्षमता कितनी है। पहाड़ के सिरे पर भीड़ नियंत्रण करने से नहीं होगा। पहाड़ों पर बनी 1200 सीढ़ियों पर तो लोगों का भार रहता है। वैष्णो देवी की तरह इन्हें नीचे ही रोकना चाहिए।
तकनीकी सलाह के लिए अब लगातार रुड़की जैसी संस्थाओं की मदद ली जाएगी। वर्तमान में नगरीय प्रशासन एवं आवास विभाग के अीन एक सर्वे होगा। इसके बाद ही आगे की चीजें तय होंगी।
क्षेत्रफल – कैमूर व विंध्यकी पर्वत श्रेणियों के बीच 600 फीट ऊंचाई पर बसा हजारों साल पुराना मंदिर।
भीड़ – नवरात्रि में सप्तमी, अष्टमी अैर नवमीं पर रोज दो लाख से ज्यादा लोगों की भीड़, आम दिनों में 10 हजार से ज्यादा।

बैडमिंटन में चैंपियन बनी पीवी सिंधु तीसरा सुपर सीरीज खिताब अपने नाम करने की कोशिश

हाल ही में कोरिया ओपन बैडमिंटन में चैंपियन बनी पीवी सिंधु मंगलवार से यहां शुरू होने वाले जापान ओपन में तीसरा सुपर सीरीज खिताब अपने नाम करने की कोशिश करेंगी। टूर्नामेंट में भारतीय शटलर किदांबी श्रीकांत और साइना नेहवाल भी भाग लेंगे। ।
सिंधु ने पिछले हफ्ते कोरिया ओपन में मिनात्सु मितानी के खिलाफ दूसरा गेम गंवाने के बाद जीत दर्ज की थी और अब वह फिर इस हफ्ते शुरुआती दौर में इसी जापानी खिलाड़ी से भिड़ेंगी। हैदराबाद की 22 वर्षीय खिलाड़ी ने विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में मिली हार का बदला चुकता करते हुए कोरिया ओपन में जापान की नोजोमी ओकुहारा को पराजित किया और सत्र का दूसरा सुपर सीरीज खिताब अपने नाम किया। अगर सिंधू मितानी को हरा देती हैं और साथ ही ओकुहारा भी हांगकांग की चेयुंग एनगान यि के खिलाफ जीत दर्ज कर लेती हैं तो लगातार तीसरे टूर्नामेंट में दोनों शटलरों की भिड़ंत हो सकती हैं।
ग्लास्गो विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदकधारी साइना की मांसपेशियों में थोड़ा खिंचाव है, लेकिन वे थाईलैंड की पोर्नपावी चोचुवोंग के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेंगी। वह इस साल मलेशिया मास्टर्स में खिताब जीतने के दौरान फाइनल में उन्हें हरा चुकी हैं। अगर स्पेनिश खिलाड़ी और मौजूदा ओलिंपिक चैंपियन कैरोलिना मारिन चीन की चेन जियाओजिन को पस्त कर देती हैं तो गैरवरीय साइना का दूसरे दौर में उनसे सामना हो सकता है।
दुनिया के आठवें नंबर के खिलाड़ी श्रीकांत का सामना शुरुआती दौर में चीन के दुनिया के दसवें नंबर के खिलाड़ी तियान होऊवेई से होगा। इंडोनेशिया सुपर सीरीज प्रीमियर और ऑस्ट्रेलिया सुपर सीरीज खिताब जीतने वाले श्रीकांत सिंगापुर ओपन के भी फाइनल में पहुंचे थे। वह होऊवेई से सात में से छह भिड़ंत में हार चुके हैं और इनमें से पांच मैचों का फैसला तीन गेमों में हुआ था।

सहयोगियों के लिए अच्छा दोस्त साबित होगा अमेरिका

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र में अपना पहला संबोधन दिया। इस दौरान उन्होंने ना सिर्फ इस्लामिक आतंक को खत्म करने की बात कही बल्कि नॉर्थ कोरिया को भी साफ चेतावनी दे डाली।
उत्तर कोरिया पर बोलते हुए ट्रंप ने कहा कि किम जोंग उन (उत्तर कोरिया का तानाशाह) की परमाणु शक्ति संपन्न सत्ता अगर अपने पड़ोसियों के लिए खतरा बनी तो उत्तर कोरिया को तबाह करना पड़ सकता है।
उन्होंने कहा, ‘अमेरिका के पास काफी ताकत और धैर्य है, लेकिन अगर उसे खुद का या अपने सहयोगियों का बचाव करना पड़ा तो हमारे पास उत्तर कोरिया को तबाह करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा।’
अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि ‘रॉकेट मैन’ (किम जोंग उन) अपने और अपनी सत्ता के लिए आत्मघाती अभियान पर है। उन्होंने कहा, ‘अमेरिका तैयार है, चाहता है और सक्षम है, लेकिन उम्मीद है कि इसकी जरूरत नहीं पड़ेगी।’
ट्रंप ने आगे कहा, किसी भी शासन ने अपने लोगों का उतना अपमान नहीं किया, जितना उत्तर कोरिया ने किया है। परमाणु हथियारों को लेकर उत्तर कोरिया के बेपरवाह रवैये ने पूरी दुनिया को धमकाने का काम किया है।
वहीं इस्लामिक आतंक पर ट्रंप ने कहा कि अमेरिका कट्टर इस्लामी आतंकवाद को खत्म करके रहेगा। उन्होंने कहा कि आतंकियों को वह अपने देश या दुनिया के टुकड़े करने नहीं दे सकते।
संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते हुए ट्रंप ने दुनिया के नेताओं से कहा, आतंकी और चरमपंथी दुनिया के हर कोने में मजबूत हुए हैं और फैल रहे हैं। वक्त आ गया है जब आतंकी संगठनों को वित्तीय मदद और सुरक्षित पनाह मुहैया कराने वाले देशों को बेनकाब किया जाए और उन्हें जिम्मेदार ठहराया जाए।
उन्होंने कहा कि सभी जिम्मेदार देशों को साथ मिलकर आतंकियों और उन्हें प्रेरित करने वाले इस्लामी चरमपंथियों का मुकाबला करना चाहिए। यहां यह उल्लेखनीय है कि पिछले महीने ही ट्रंप ने पाकिस्तान को आतंकियों को सुरक्षित पनाह मुहैया कराने के लिए कड़ी चेतावनी दी थी।
ट्रंप ने ईरान के साथ परमाणु समझौते को अमेरिका के लिए ‘शर्मिदगी’ करार दिया। लिहाजा माना जा रहा है कि अमेरिका या तो इस समझौते को रद कर सकता है या कुछ नई शर्ते लगा सकता है। ट्रंप ने कहा, ‘विश्वास कीजिए, यही समय है जब पूरी दुनिया को हमारे साथ मिलकर ईरान सरकार से मौत और विनाश की अपनी खोज समाप्त करने की मांग करनी चाहिए।’
ट्रंप ने कहा कि अमेरिका का राष्ट्रपति होने के नाते मेरा दायित्व है कि मैं अमेरिकी लोगों के अधिकारों और हितों की रक्षा करूं। यहीं काम सभी राष्ट्राध्यक्षों का है। उन्होंने कहा कि अमेरिका पूरी दुनिया और खासतौर पर अपने सहयोगियों के लिए अच्छा दोस्त साबित होगा।
अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, सीरिया और इराक में आइएस को हराने में हमें बड़ी कामयाबी मिली है। हम जॉर्डन, तुर्की और लेबनान का शुक्रिया अदा करना चाहते हैं कि उन्होंने अपने यहां सीरिया के शरणार्थियों को पनाह दी।
ट्रंप ने कहा कि अमेरिका के लिए यह बड़ी शर्मिंदगी की बात है कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में कुछ ऐसी सरकारें भी बैठी हुई हैं, जिनका रिकॉर्ड इस मामले में बेहद खराब है। वेनेजुएला के लोग तबाह हो रहे हैं, एक जिम्मेदार दोस्त होने के नाते यह हमारा लक्ष्य है कि हम उनकी मदद करें और लोकतंत्र स्थापित करें।

ग्रेस पिंटो की गिरफ्तारी पर रोक लगाने से इन्‍कार

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने गुरुग्राम के रेयान स्कूल के मालिक रेयान ऑगस्टाइन पिंटो, रेयान ऑगस्टाइन फ्रांसिस पिंटो और ग्रेस पिंटो की गिरफ्तारी पर रोक लगाने से इन्‍कार कर दिया है। उनकी अग्रिम जमानत की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने उनको इस मामले में कोई राहत देने से इन्‍कार दिया। वैसे, हाई कोर्ट ने इस मामले पर हरियाणा सरकार को नोटिस जारी कर जवाब जलब किया है। अब इस मामले पर सुनवाई सोमवार को हाेगी।
रेयान स्कूल के मालिक रेयान ऑगस्टाइन पिंटो, रेयान ऑगस्टाइन फ्रांसिस पिंटो और ग्रेस पिंटो द्वारा अग्रिम जमानत याचिका पर हाई कोर्ट में जस्टिस इंदरजीत सिंह ने सुनवाई की। उन्‍होंने इस मामले में तीनों को कोई राहत देेने से मना कर दिया और कहा कि कोर्ट उनकी गिरफ्तारी पर राेक नहीं लगा सकती। हाई कोर्ट ने याचिका पर हरियाणा सरकार को अपना जवाब देने को कहा। हाई कोर्ट ने कहा कि यह बेहद गंभीर मामला है आैर सभी पक्षों को सुने बिना इस पर कोई फैसला नहीं किया जा सकता।
रेयान स्‍कूल में मारे गए छात्र प्रद्युम्न के पिता की ओर से वकील सुशील टेकरीवाल ने हाई कोर्ट में अपना पक्ष रखा। उन्होंने कोर्ट से कहा कि जिस तरीके से बच्चे की हत्या की गई है उसे देखते हुए रेयान रूकूल के मालिकों को किसी भी तरह की कोर्ट से कोई राहत नहीं मिलनी चाहिए।
इस मामले में चंडीगढ़ स्कूल पेरेंट्स एसोसिएसन ने अर्जी दायर कर इस मामले में अग्रिम जमानत का विरोध किया है। एसोसिएशन ने मामले में खुद को भी प्रतिवादी बनने की मांग की है। इन दोनों की मांग पर कोर्ट ने कहा कि इस मामले में अभी तक कोर्ट ने नॉटिस जारी नहीं किया और वह अभी किसी भी अन्य पक्ष को नहीं सुनेगी।

राजस्थान में बदमाशों ने एक थानाधिकारी को गाड़ी से कुचल दिया

राजस्थान के नागौर जिले में मंगलवार रात बदमाशों ने एक थानाधिकारी को गाड़ी से कुचल दिया। थानाधिकारी की उपचार के दौरान मौत हो गई।
जानकारी के अनुसार श्रीबालाजी के थानाधिकारी पूरणमल बीती रात गाड़ियों की चैकिंग कर रहे थे। इस दौरान तेज गति से आ रही बोलेरो गाड़ी को उन्होंने रुकने का इशारा किया। लेकिन गाड़ी चालक ने स्पीड और तेज कर दी और थानेदार को जोरदार टक्कर मार दी।
मौजूद पुलिसकर्मियों के अनुसार बोलेरो में करीब चार-पांच लोग सवाार थे। इसके बाद घायल थानेदार को नागौर के जेएलएन अस्पताल पहुंचाया गया। जहां उनकी मौत हो गई।
जानकारी के अनुसार सीकर के रहने वाले पूरणमल मीणा तीन दिन के अवकाश के बाद ड्यूटी पर लौटे थे। पुलिस ने आरोपियो की तलाश कर रही है।

रेलवे की अव्यवस्था से पीड़त आउटर पर इंजन फेल

देश में बुलेट ट्रेन चलने की तैयारी पर सरकार भले ही उपलब्धि का बखान कर रही है लेकिन आम यात्री की रेलवे की अव्यवस्था से पीड़त है। बुधवार को इटारसी से जबलपुर की ओर जाने वाली फास्ट पैसेंजर का गोटेगांव के पास आउटर पर इंजन फेल हो गया।
जिससे ट्रेन करीब 2 घंट से भी ज्यादा समय तक खड़ी रही। ट्रेन में पानी की भी सुविधा नही होने के कारण यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। कई यात्रियों को खेतों में जाकर पीने का पानी लेकर आए।
यात्रियों का कहना था‍ कि घंटों से रेलवे का कोई भी अधिकारी नहीं आया है। हमारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से निवेदन है कि पहले रेलवे की व्यवस्था में सुधार होना चाहिए, बाद में बुलेट ट्रेन चले।

इस चिडिय़ाघर के जानवरों ने भी मनाया श्राद्ध, किया सिर्फ शाकाहारी भोजन

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर शहर स्थित कमला नेहरू चिडिय़ाघर में मंगलवार को एक अनोखा नजारा देखने को मिला। मंगलवार को यहां के सभी जानवरों ने भी श्राद्ध मनाया और मांस ना खाकर सिर्फ शाकाहारी भोजन खाया। जानकारी के अनुसार मंगलवार को सर्व पितृमोक्ष अमावस्या पर एक स्थानीय संस्था ने अनूठी पहल करते हुए वन्य प्राणियों को भोजन कराया। चिडिय़ाघर प्रभारी डॉ. उत्तम यादव ने बताया कि सामाजिक संस्था करुणा सागर और एक स्थानीय संत ने प्राणी संग्रहालय के प्राणियों को भोजन कराने की अनुमति चाही थी।

इस पर पशु चिकित्सकों के दल ने प्राणियों के अनुकूल शाकाहारी भोजन तैयार करने के संबंध में निर्देश जारी किए थे। उसके अनुसार भोजन तैयार कर मंगलवार को सभी जानवरों को एक साथ परोसा गया। यादव ने बताया कि ऐसे आयोजन से पशु-प्रेमियों के साथ आमजन में प्राणियों के प्रति स्नेह बढ़ता है।

उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजन निश्चित ही एक सकारात्मक माहौल तैयार करते हैं। इससे प्राणियों के स्वाभाव को समझने में आमजन को सहायता मिलती है। आयोजक लक्षमण दास महाराज ने बताया कि सनातन धर्म में सर्व पितृमोक्ष अमावस्या पर भूले बिछड़े पुरखों को, पितरों को तर्पण के माध्यम से भोग अर्पित किया जाता है।

उन्होंने बताया कि परोक्ष रूप से इस प्रकार हम प्रकृति को ही भोजन अथवा अन्य खाद्य सामग्री अर्पित करते हैं, जिसके फलस्वरूप वन्य प्राणियों को भोजन कराया गया। समूचे चिडिय़ाघर में लंगर की तरह आयोजित आयोजन देखते ही बनता था। इस मनोरम दृश्य को देखने के लिए बड़ी संख्या में पशु प्रेमी भी एकत्रित हुए।

ब्रेडेन शनूर को हराकर भारत को दिलाई सांत्वना जीत

डेनिस शापोवालोव ने रविवार को पहले उलट एकल मैच में भारत के रामकुमार रामनाथन को हराकर कनाडा को डेविस कप विश्व ग्रुप में पहुंचा दिया। इसके बाद भारत के युकी भांबरी ने औपचारिक मैच में ब्रेडेन शनूर को हराकर भारत को सांत्वना जीत दिलाई।
कनाडा ने यह मुकाबला 4-1 से जीतते हुए वर्ल्ड ग्रुप में जगह बनाई। शनिवार को डबल्स मैच में रोहन बोपन्ना और पूरव राजा की हार के बाद पहले उलट एकल मैच में रामनाथन को हर हाल में जीत जरूरी थी, लेकिन दुनिया के 51वें क्रम के शापोवालोव ने उन्हें 6-3, 7-6 (1), 6-3 से हराकर कनाडा को 3-1 की अपराजेय बढ़त दिला दी।
मैच में रामनाथन की शुरुआत बहुत खराब रही और वे इससे उबर नहीं पाए। अपने से उच्च रैटेड कनाडाई खिलाड़ी के सामने वे दूसरे सेट को छोड़कर कोई चुनौती पेश नहीं कर पाए।
इसके बाद औपचारिक मैच में युकी ने ब्रेडेन को 6-4, 4-6, 6-4 से हराकर सांत्वना जीत दर्ज की। चूंकि इस मैच का कोई महत्व नहीं रह गया था, इसलिए यह मैच बेस्ट ऑफ थ्री सेट का खेला गया।
भारत लगातार चौथे वर्ष डेविस कप प्लेऑफ की बाधा पार नहीं कर पाया। पिछले तीन वर्षों में उसे इससे पहले सर्बिया, चेक गणराज्य और स्पेन के हाथों हार झेलनी पड़ी थी। दूसरी तरफ पिछले वर्ष पहले दौर में ग्रेट ब्रिटेन के हाथों हारने वाला कनाडा फिर 16 शीर्ष टीमों के विश्व समूह में पहुंच गया। भारत को अब फिर डेविस कप एशिया ओसनिया ग्रुप 1 में खेलना होगा।

नाइजीरिया में राहत समाग्री हमले में कम से कम 15 लोगों की मौत

आंतरिक गृहयुद्ध से जुझ रहे नाइजीरिया में राहत समाग्री प्राप्त कर रहे लोगों पर हुए आत्मघाती हमले में कम से कम 15 लोगों की मौत हो गई और लगभग 43 लोग घायल हो गये।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, नाइजीरिया के मशालरी गांव में 11 बजकर 10 मिनट पर दो आत्मघाती हमला हुआ जिसमें राहत समाग्री प्राप्त कर रहे लोगों को निशाना बनाया गया। इस हमले में आम नागरिकों की मौत हुई है। नाइजीरिया में आंतरिक उठापठक के कारण अंदरुनी हालात बेहद खराब हैं।
तेल संपदा से धनी नाइजीरिया में हिंसा अब आम बात हो गई है। पिछले कुछ दिनों में यहां के हालात दिन-प्रतिदिन खराब होते जा रहे हैं। इस घटना में स्थानीय चरमपंथी संगठन के हाथ होने की संभावना जताई जा रही है।

दीवाली तक आएगी तेल की कीमतों में कमी

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि दीवाली तक तेल की कीमतों में कमी आएगी। पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतें अंतररराष्ट्रीय बाजार से रोजाना तय होती है। बीते दिनों अमेरिका में आई बाढ़ के कारण 13 प्रतिशत तेल शोधन कम हुआ है, जिस कारण थोड़े दिनों में कीमतें बढ़ी हैं।
प्रधान सोमवार को सर्किट हाउस में पत्रकारों से बात कर रहे थे। तेल कंपनियों की तरफ से अधिक मुनाफा कमाए जाने पर पूछे गए सवाल पर प्रधान ने स्पष्ट किया कि तेल कंपनियां सरकारी हैं। इसमें सब कुछ पारदर्शी है। जो भी वह मुनाफा कमाती हैं वह सरकार की तरफ से जन कल्याण के कामों पर खर्च किया जाता है।
पेट्रोलियम उत्पाद को जीएसटी के तहत लाए जाने पर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि मेरा मानना है कि पेट्रोल-डीजल पर जीएसटी लागू होना उपभोक्ता के पक्ष में रहेगा। उम्मीद है कि जल्द ही सारे प्रदेश व जीएसटी काउंसिल सहमति से पेट्रोलियम पदार्थ को अपने अधीन ले लेंगे।