टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर ने यूरोप को 15-9 से जीत दिलाई

दुनिया के नंबर दो टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर ने सुपर टाइ-ब्रेक में निक किर्गियोस को हराकर यहां पहले लेवर कप टेनिस टूर्नामेंट में टीम यूरोप को विश्व टीम के खिलाफ 15-9 से जीत दिलाई।
इस साल ऑस्ट्रेलियाई ओपन और विंबलडन का खिताब जीतने वाले फेडरर ने रविवार को 4-6, 7-6, 11-9 से यह मुकाबला अपने नाम किया।
स्विट्जरलैंड के 36 वर्षीय दिग्गज खिलाड़ी फेडरर को 22 साल के दुनिया के 20वें नंबर के ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी के खिलाफ जूझना पड़ा। उन्होंने पहला सेट गंवा दिया था, लेकिन उसके बाद वह वापसी करने में सफल रहे और जीत दर्ज की।
दिन की शुरुआत में टीम यूरोप को 9-3 की बढ़त हासिल थी। शुरुआती डबल्स मुकाबले में जैक सोक और जॉन इस्नर ने टॉमस बर्डिच और मारिन सिलिच को 7-6, 7-6 हराकर यूरोप की बढ़त को 6-9 कर दिया। इसके बाद एलेक्जेंडर ज्वेरेव ने सैम क्वेरी को सीधे सेटों में 6-4, 6-4 से हराकर यूरोप को खिताब की दहलीज पर पहुंचाया।
हालांकि, नडाल इसके बाद इस्नर के खिलाफ सीधे सेटों में हार गए, जिससे यूरोप की बढ़त 12-9 रह गई। फेडरर ने अंतिम मुकाबले में जीत के साथ यूरोप को पहले लेवर कप का खिताब दिलाया।

भारतीय युवा शटलर वैष्णवी रेड्डी ने जीत लिया बेल्जियम जूनियर ओपन बैडमिंटन का खिताब

भारतीय युवा शटलर वैष्णवी रेड्डी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए रविवार को बेल्जियम जूनियर ओपन बैडमिंटन का खिताब जीत लिया।
दूसरी वरीय रेड्डी ने अंडर-19 वर्ग में शीर्ष वरीय विवियन सैंडोरहाजी को तीन गेम तक चले मुकाबले में 21-19, 17-21, 21-12 से शिकस्त देकर ट्रॉफी पर कब्जा किया।
भारतीय शटलर ने यह मुकाबला 42 मिनट में अपने नाम किया। उधर पुरुष डबल्स में शीर्ष वरीय अर्जुन एमआर और रामचंद्रन श्लोक की जोड़ी ने इथोपिया इंटरनेशनल बैडमिंटन का डबल्स खिताब जीता।
अर्जुन-श्लोक की जोड़ी ने फाइनल में जॉर्डन के बहेदून अहमद अलशानिक और मुहम्मद नासर मंसूर की जोड़ी को 21-6, 21-19 से मात देकर ट्रॉफी अपने नाम की।
वहीं महिला डबल्स में मनीशा के और आरती सारा सुनील की जोड़ी को पोलैंड इंटरनेशनल टूर्नामेंट के फाइनल में शिकस्त का सामना करना पड़ा। मनीशा-आरती की जोड़ी इंग्लैंड की शीर्ष वरीय जेनी मूर और विक्टोरिया विलियम्स से 19-21, 22-24 से हार गई।

दो स्थान के सुधार के साथ दूसरे नंबर पर पहुंच गई पीवी सिंधु

भारतीय स्टार शटलर पीवी सिंधु गुरुवार को जारी ताजा विश्व बैडमिंटन रैंकिंग में दो स्थान के सुधार के साथ दूसरे नंबर पर पहुंच गई।
सिंधु को कोरिया ओपन में खिताबी जीत की बदौलत दो स्थान का फायदा मिला और अपने सर्वश्रेष्ठ दूसरे स्थान की बराबरी कर ली। सिंधु अब द. कोरिया की सुंग जी हुआन और जापान की अकाने यामागुची को पीछे छोड़ रैंकिंग में दूसरे क्रम पर पहुंच गई। सिंधु इसके पूर्व इसी वर्ष अप्रैल में विश्व रैंकिंग में दूसरे क्रम पर पहुंची थी।
साइना नेहवाल 12वें स्थान पर बनी हुई है। पुरुष रैंकिंग में किदाम्बी श्रीकांत आठवें स्थान पर बरकरार हैं जबकि बी. साई प्रणीत एक स्थान गिरकर 17वें नंबर पर खिसके हैं। एचएस प्रणय और अजय जयराम को भी क्रमशः एक और तीन स्थान का नुकसान हुआ है। प्रणय अब 19वें और जयराम 20वें नंबर पर हैं। समीर वर्मा चार स्थान के सुधार के साथ 21वें नंबर पर आ गए हैं। पुरुष युगल वर्ग में शीर्ष 25 में कोई भी भारतीय जोड़ी नहीं है।

साइना नेहवाल और किदांबी श्रीकांत ने की विजय की शुरुआत

साइना नेहवाल और किदांबी श्रीकांत ने विजय अभियान की शुरुआत करते हुए जापान ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट के दूसरे दौर में प्रवेश किया।
विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता साइना ने थाइलैंड की पोर्नपावी चूचुवोंग को 21-17, 21-19 से हराकर दूसरे दौर में जगह बनाई।
साइना का अब रियो ओलिंपिक की स्वर्ण पदक विजेता केरोलिना मारिन से मुाकबला होगा। साइना का स्पेन की इस खिलाड़ी के खिलाफ जीत-हार का रिकॉर्ड 4-3 है, लेकिन पिछले चार मैचों में से तीन मैचों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है।
इंडोनेशिया और ऑस्ट्रेलिया में खिताब जीत चुके के श्रीकांत ने चीन के तियान होवुवेई को 21-15, 12-21, 21-11 से हराया। इसी के साथ श्रीकांत ने दुनिया के ‍10वें क्रम के खिलाड़ी के खिलाफ पहली जीत दर्ज की। वे इससे पहले 6 मैचों में उनसे हार चुके थे। अब उनका मुकाबला हांगकांग के हु यून से होगा।
यूएस ओपन विजेता एचएस प्रणय और सैयद मोदी ग्राप्रि विजेता समीर वर्मा ने भी दूसरे दौर में प्रवेश किया। प्रणय ने डेनमार्क के एंडर्स एंटोन्सेन को 21-12, 21-14 से हराया

बैडमिंटन में चैंपियन बनी पीवी सिंधु तीसरा सुपर सीरीज खिताब अपने नाम करने की कोशिश

हाल ही में कोरिया ओपन बैडमिंटन में चैंपियन बनी पीवी सिंधु मंगलवार से यहां शुरू होने वाले जापान ओपन में तीसरा सुपर सीरीज खिताब अपने नाम करने की कोशिश करेंगी। टूर्नामेंट में भारतीय शटलर किदांबी श्रीकांत और साइना नेहवाल भी भाग लेंगे। ।
सिंधु ने पिछले हफ्ते कोरिया ओपन में मिनात्सु मितानी के खिलाफ दूसरा गेम गंवाने के बाद जीत दर्ज की थी और अब वह फिर इस हफ्ते शुरुआती दौर में इसी जापानी खिलाड़ी से भिड़ेंगी। हैदराबाद की 22 वर्षीय खिलाड़ी ने विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में मिली हार का बदला चुकता करते हुए कोरिया ओपन में जापान की नोजोमी ओकुहारा को पराजित किया और सत्र का दूसरा सुपर सीरीज खिताब अपने नाम किया। अगर सिंधू मितानी को हरा देती हैं और साथ ही ओकुहारा भी हांगकांग की चेयुंग एनगान यि के खिलाफ जीत दर्ज कर लेती हैं तो लगातार तीसरे टूर्नामेंट में दोनों शटलरों की भिड़ंत हो सकती हैं।
ग्लास्गो विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदकधारी साइना की मांसपेशियों में थोड़ा खिंचाव है, लेकिन वे थाईलैंड की पोर्नपावी चोचुवोंग के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेंगी। वह इस साल मलेशिया मास्टर्स में खिताब जीतने के दौरान फाइनल में उन्हें हरा चुकी हैं। अगर स्पेनिश खिलाड़ी और मौजूदा ओलिंपिक चैंपियन कैरोलिना मारिन चीन की चेन जियाओजिन को पस्त कर देती हैं तो गैरवरीय साइना का दूसरे दौर में उनसे सामना हो सकता है।
दुनिया के आठवें नंबर के खिलाड़ी श्रीकांत का सामना शुरुआती दौर में चीन के दुनिया के दसवें नंबर के खिलाड़ी तियान होऊवेई से होगा। इंडोनेशिया सुपर सीरीज प्रीमियर और ऑस्ट्रेलिया सुपर सीरीज खिताब जीतने वाले श्रीकांत सिंगापुर ओपन के भी फाइनल में पहुंचे थे। वह होऊवेई से सात में से छह भिड़ंत में हार चुके हैं और इनमें से पांच मैचों का फैसला तीन गेमों में हुआ था।

ब्रेडेन शनूर को हराकर भारत को दिलाई सांत्वना जीत

डेनिस शापोवालोव ने रविवार को पहले उलट एकल मैच में भारत के रामकुमार रामनाथन को हराकर कनाडा को डेविस कप विश्व ग्रुप में पहुंचा दिया। इसके बाद भारत के युकी भांबरी ने औपचारिक मैच में ब्रेडेन शनूर को हराकर भारत को सांत्वना जीत दिलाई।
कनाडा ने यह मुकाबला 4-1 से जीतते हुए वर्ल्ड ग्रुप में जगह बनाई। शनिवार को डबल्स मैच में रोहन बोपन्ना और पूरव राजा की हार के बाद पहले उलट एकल मैच में रामनाथन को हर हाल में जीत जरूरी थी, लेकिन दुनिया के 51वें क्रम के शापोवालोव ने उन्हें 6-3, 7-6 (1), 6-3 से हराकर कनाडा को 3-1 की अपराजेय बढ़त दिला दी।
मैच में रामनाथन की शुरुआत बहुत खराब रही और वे इससे उबर नहीं पाए। अपने से उच्च रैटेड कनाडाई खिलाड़ी के सामने वे दूसरे सेट को छोड़कर कोई चुनौती पेश नहीं कर पाए।
इसके बाद औपचारिक मैच में युकी ने ब्रेडेन को 6-4, 4-6, 6-4 से हराकर सांत्वना जीत दर्ज की। चूंकि इस मैच का कोई महत्व नहीं रह गया था, इसलिए यह मैच बेस्ट ऑफ थ्री सेट का खेला गया।
भारत लगातार चौथे वर्ष डेविस कप प्लेऑफ की बाधा पार नहीं कर पाया। पिछले तीन वर्षों में उसे इससे पहले सर्बिया, चेक गणराज्य और स्पेन के हाथों हार झेलनी पड़ी थी। दूसरी तरफ पिछले वर्ष पहले दौर में ग्रेट ब्रिटेन के हाथों हारने वाला कनाडा फिर 16 शीर्ष टीमों के विश्व समूह में पहुंच गया। भारत को अब फिर डेविस कप एशिया ओसनिया ग्रुप 1 में खेलना होगा।

1-2 से पिछड़ गया भारत डेविस कप वर्ल्ड ग्रुप प्लेऑफ

रोहन बोपन्ना और पूरव राजा की डबल्स मैच में हार के साथ ही भारत डेविस कप वर्ल्ड ग्रुप प्लेऑफ मुकाबले में कनाडा के खिलाफ 1-2 से पिछड़ गया। अब उसे वर्ल्ड ग्रुप में पहुंचने के लिए दोनों रिवर्स सिंगल्स जीतने होंगे।
अनुभवी डेनियल नेस्टर और वासेक पोस्पिसिल ने बोपन्ना-नेस्टर को 7-5, 7-5, 5-7, 6-3 से हराया। यह मुकाबला दो घंटे 52 मिनट तक चला। युगल मैच में हार की वजह से भारत की अब वर्ल्ड ग्रुप के लिए क्वालीफाई करने की संभावनाएं कम हो गई है।
27 वर्षीय पोस्पिसिल इन चारों खिलाड़‍ि यों में सबसे युवा थे और वे अकेले एटीपी टूर में सिंगल्स भी खेलते हैं। उनके शानदार रिटर्न्स और उम्दा प्लेसमेंट्‍स ने मैच में अंतर पैदा किया।

पीवी सिंधु ने कोरिया ओपन के सेमीफाइनल में प्रवेश किया

रियो ओलिंपिक की रजत पदक विजेता पीवी सिंधु ने जीत का सफर जारी रखते हुए कोरिया ओपन के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। भारत के समीर वर्मा हार के साथ टूर्नामेंट से बाहर हो गए।
भारतीय शटलर सिंधु ने दुनिया की 19वें क्रम की जापान की मिनात्सु मितानी को 21-19, 16-21, 21-10 से हराया। यह मुकाबला मात्र 63 मिनट चला।
सिंधु ने कड़े संघर्ष के बाद पहला गेम 21-19 से अपने नाम किया। दूसरे गेम में मितानी ने शुरुआती बढ़त बनाई लेकिन सिंधु 12-9 से आगे हो गई थी। इसके बाद जापानी खिलाड़ी ने जोरदार प्रदर्श
न कर इस गेम को 21-16 से अपने नाम कर मैच में 1-1 की बराबरी की। सिंधु ने निर्णायक मैच में शुरू से ही दबाव बनाए रखा और इस गेम को आसानी से जीत लिया।
अब उनका मुकाबला तीसरे क्रम के सुंग जी हुआन और चीन के ही बिंगजियाओ के विजेता से होगा। भारत के समीर वर्मा का सफर कोरियाई शीर्षक्रम के खिलाड़ी सोन वान से हार के साथ समाप्त हो गया। सोन ने समीर को 20-22, 21-10, 21-13 से हराया।

पीवी सिंधु ने कोरिया ओपन के सेमीफाइनल में प्रवेश किया

रियो ओलिंपिक की रजत पदक विजेता पीवी सिंधु ने जीत का सफर जारी रखते हुए कोरिया ओपन के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। भारत के समीर वर्मा हार के साथ टूर्नामेंट से बाहर हो गए।
भारतीय शटलर सिंधु ने दुनिया की 19वें क्रम की जापान की मिनात्सु मितानी को 21-19, 16-21, 21-10 से हराया। यह मुकाबला मात्र 63 मिनट चला।
सिंधु ने कड़े संघर्ष के बाद पहला गेम 21-19 से अपने नाम किया। दूसरे गेम में मितानी ने शुरुआती बढ़त बनाई लेकिन सिंधु 12-9 से आगे हो गई थी। इसके बाद जापानी खिलाड़ी ने जोरदार प्रदर्श
न कर इस गेम को 21-16 से अपने नाम कर मैच में 1-1 की बराबरी की। सिंधु ने निर्णायक मैच में शुरू से ही दबाव बनाए रखा और इस गेम को आसानी से जीत लिया।
अब उनका मुकाबला तीसरे क्रम के सुंग जी हुआन और चीन के ही बिंगजियाओ के विजेता से होगा। भारत के समीर वर्मा का सफर कोरियाई शीर्षक्रम के खिलाड़ी सोन वान से हार के साथ समाप्त हो गया। सोन ने समीर को 20-22, 21-10, 21-13 से हराया।

पीवी सिंधु और पारुपल्ली कश्यप ने ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में बना ली जगह

भारत की शीर्ष महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु और पुरुष खिलाड़ी पारुपल्ली कश्यप ने कोरिया ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के अपने-अपने मुकाबलों में जीत हासिल करके दूसरे दौर में जगह बना ली है।
विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने वाली सिंधु ने बुधवार को महिला एकल वर्ग के पहले दौर में 17वीं वरीयता प्राप्त चेउंग नगान यी को मात दी। दुनिया की चौथी नंबर की खिलाड़ी सिंधु ने हांगकांग की चेउंग को सीधे गेमों में 21-13, 21-8 से मात दी। अब प्री-क्वार्टर फाइनल में सिंधु का मुकाबला थाईलैंड की नितचाओन जिंदापोल से होगा।
वहीं, पुरुष एकल वर्ग के पहले दौर में कश्यप ने चीनी ताईपे के सु जेन हाओ को सीधे गेमों में 21-13, 21-16 से हराया। उनका सामना अब अगले दौर में शीर्ष वरीय प्राप्त कोरियाई खिलाड़ी सोन वान हो से होगा।
इससे पहले भारत के अग्रणी बैडमिंटन खिलाड़ी परूपल्ली कश्यप ने कोरिया ओपन के पुरुष एकल वर्ग की क्वालीफांग राउंड की बाधा पार कर ली थी। उन्होंने क्वालीफिकेशन राउंड में खेले गए दो मैचों में जीत हासिल करते हुए मुख्य दौर में प्रवेश किया।
कश्यप के अलावा मिश्रित युगल में अश्विनी पोनप्पा और रेड्डी की जोड़ी ने भी दोनों राउंड में जीत हासिल करते हुए मुख्य दौर में जगह बनाई थी। वहीं, प्रणव जेरी चोपड़ा और एन.सिक्की रेड्डी को मिश्रित युगल के पहले दौर में हार का सामना करना पड़ा है।