सेमीफाइनल में प्रवेश के लिए समीर का मुकाबला हमवतन कश्यप से होगा

भारतीय शटलर पी कश्यप, समीर वर्मा और एचएस प्रणय ने अपने- अपने मुकाबले जीतकर यूएस ओपन ग्रांप्रि गोल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया। सेमीफाइनल में प्रवेश के लिए अब समीर का मुकाबला हमवतन कश्यप से होगा।
कश्यप ने हंगरी के जर्जले क्रास्ज के दूसरे गेम के बीच में रिटायर होने से दूसरे दौर में प्रवेश किया। क्रास्ज जब मैच से हटे उस समय कश्यप ने पहला गेम 21-18 से जीत लिया था और दूसरे में वह 17-6 से आगे थे। कॉमनवेल्थ गेम्स चैंपियन कश्यप ने इसके बाद एक फिर कोर्ट पर उतरकर श्रीलंका के 16वें वरीय निलुका करुणरत्ने को 21-19, 21-10 से मात देकर अंतिम आठ का टिकट कटाया।
पांचवें वरीय समीर ने क्रोएशिया के ज्वोनीमीर दुर्किनजाक और ब्राजील के यगोर कोएल्हो को पराजित किया। कंधे की चोट से वापसी कर रहे समीर ने दुर्किनजाक को पहले मैच में 21-19, 25-27, 21-15 और फिर नौवें वरीय यगोर को 18-21, 21-14, 21-18 से पराजित किया। दूसरे वरीय प्रणय ने आयरलैंड के जोशुआ मैगी को एकतरफा मुकाबले में 21-13, 21-17 से हराने के बाद नीदरलैंड्स के 12वें वरीय मार्क कालजोउ को 21-8,14-21, 21-16 से बाहर का रास्ता दिखाया। अगले दौर में अब प्रणय की भिड़ंत आठवें वरीय जापान के कांता सुनेयामा से होगी।
मनु व सुमित भी आगे बढ़े : पुरुष डबल्स में तीसरी वरीय मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी की जोड़ी ने इंडोनेशिया के हेंद्रा तांदजया और एंडो यूनांतो की जोड़ी को 21-16, 21-9 से पराजित किया। अगले दौर में मनु -सुमित का सामना जापान के हिरोकी ओकामुरा और मासाकी ओनोडेरा की जोड़ी से होगा।
दानी, श्रीकृष्णा व रितुपर्णा हारे : हर्षल दानी, श्रीकृष्णा प्रिया और रितुपर्णा दास का अभियान थम गया। दानी को वियतनाम के टिन मिंह के हाथों 27-25, 21-9 से हार मिली। महिला सिंगल्स में श्रीकृष्णा को कोरिया की जंग मि ली के हाथों 11-21, 10-21 से और रितुपर्णा को डेनमार्क की नेतालिया कोच से 15-21, 20-22 से शिकस्त का सामना करना पड़ा। पुरुष डबल्स में फ्रांसिस अल्विन और तरुण कोना, महिला डबल्स में मेघना व पूर्विशा एस राम और मिक्स्ड डबल्स में मनु और मनीषा की जोड़ी भी हारकर बाहर हो गई।

चोट से उबरने के बाद वापसी करने वाले समीर वर्मा प्रतिबद्ध हैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने

चोट से उबरने के बाद वापसी करने वाले समीर वर्मा बुधवार से शुरू होने वाले यूएस ओपन ग्रांप्रि गोल्ड बैडमिंटन टूर्नामेंट में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। समीर के अलावा एचएस प्रणय और पारूपल्ली कश्यप भी इस टूर्नामेंट में उतरेंगे।
इस साल सैयद मोदी ग्रांप्रि का खिताब जीतने वाले समीर कंधे की चोट के कारण पिछले महीने इंडोनेशिया और ऑस्ट्रेलिया सुपर सीरीज में नहीं खेल पाए थे। इसके बाद वीजा समय पर नहीं मिलने के कारण वह कनाडा ओपन में भी भाग नहीं ले पाए थे। यह 22 वर्षीय खिलाड़ी अब यूएस ओपन में इसकी भरपाई करना चाहेगा जिसमें उनका पहला मुकाबला वियतनाम के हुआंग नाम नगुएन से होगा।
एचएस प्रणय और पारूपल्ली कश्यप भी कनाडा ओपन से जल्दी बाहर होने के बाद यहां अच्छे परिणाम की उम्मीद कर रहे होंगे। कश्यप को शुरू में ही शीर्ष वरीयता प्राप्त कोरियाई ली ह्यून इल से भिड़ना होगा, जबकि दूसरी वरीयता प्राप्त एचएस प्रणय ऑस्ट्रिया के लुका रैबर का सामना करेंगे। पुरुष सिंगल्स में भाग लेने वाले अन्य भारतीयों में अभिषेक येलेगर पहले दौर में फ्रांस के तीसरे वरीय ब्राइस लेवरडेज से, लखानी सारंग जापान के केंटा निशिमोतो से और हर्षिल दानी मेक्सिको के अर्तुरो हर्नांडिस से भिड़ेंगे।
महिला सिंगल्स में ओलिंपिक पदक विजेता स्टार शटलर साइना नेहवाल के हटने के बाद राष्ट्रीय चैंपियन रितुपर्णा दास और रूतविका शिवानी गाडे भारतीय चुनौती की अगुआई करेंगी। शिवानी का सामना जापान की आया ओहोरी से, जबकि रितुपर्णा का राचेल होंड्रिच से होगा। अन्य भारतीयों में श्रीकृष्णा प्रिया कुदरावल्ली अमेरिका की माया चेन से, साई उत्तेजिता राव चुक्का नीदरलैंड्स की गेल माहुलेटी से और रेशमा कार्तिक डेनमार्क की सोफी होल्मबो डहल से भिड़ेंगी।
प्रणय जेरी चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी की मिक्स्ड डबल्स जोड़ी का सामना इंग्लिश जोड़ी बेन लेन और जेसिका पुग से होगा। कोना तरुण व मेघना जक्कमपुड्डी और मनु अत्री व मनीशा के की अन्य भारतीय जोड़ियां भी मिक्स्ड डबल्स में खेलने उतरेंगी। पुरुष डबल्स में, तीसरे वरीय मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी की भारतीय जोड़ी की भिड़ंत कनाडा की जेसन एंथनी हो-श्यू और नील याकुरा की जोड़ी से होगी।

दुनिया की नंबर वन महिला क्रिकेटर बनने की दिशा में तेजी से बढ़ रही सेमीफाइनल में प्रवेश कर चुकी कप्तान मिताली राज

इंग्लैंड में खेले जा रहे महिला विश्व कप क्रिकेट में भारतीय टीम शानदार प्रदर्शन कर रही है। कप्तान मिताली राज की टीम सेमीफाइनल में प्रवेश कर चुकी है। खिलाड़ी के रूप में भी मिताली ने उम्दा प्रदर्शन किया है और वे दुनिया की नंबर वन महिला क्रिकेटर बनने की दिशा में तेजी से बढ़ रही हैं।
आईसीसी वनडे रैंकिंग में मिताली फिलहाल नंबर दो पर हैं। पहले पायदान पर ऑस्ट्रेलिया की कप्तान मेग लैनिंग हैं। इस विश्व कप में मिताली सात मैचों में 356 रन बना चुकी हैं और नंबर वन की लड़ाई में उनके और मेग के बीच का फासला तेजी से कम हो रहा है।
774 अंकों के साथ मिताली फिलहाल नंबर दो पर हैं और मेग से महज पांच अंक पीछे हैं। बहरहाल, आईसीसी की टॉप-10 रैंकिंग में मिताली एक मात्र भारतीय खिलाड़ी हैं।
मिताली ने बनाए हैं सबसे ज्यादा रन
356 रनों के साथ मिताली इस विश्व कप में अब तक सबसे ज्यादा रन बनाने वाली खिलाड़ी हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ उन्होंने 109 रनों की शतकीय पारी खेली है। इससे पहले मिताली वनडे में 6000 रन पूरे करने वाली दुनिया की पहली महिला खिलाड़ी बन चुकी हैं।
महिला गेंदबाजों की रैंकिंग में झूलन गोस्वामी छठे नंबर पर हैं। वहीं एकता बिष्ट सातवीं रैंकिंग पर चली गई हैं। विश्व कप के दौरान दोनों खिलाड़ियों की रैंकिंग गिरी है।
वहीं टीम रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया लगातार नंबर बन बनी हुई है। न्यूजीलैंड दूसरे और भारतीय टीम चौथे नंबर पर है।

भारत के एचएस प्रणय ने कनाडा ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में पुरुष सिंगल्स के प्रीक्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया

दूसरी वरीय भारत के एचएस प्रणय ने कैलगरी में खेले जा रहे कनाडा ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में बुधवार को पुरुष सिंगल्स के प्रीक्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया, लेकिन 16वीं वरीय पारूपल्ली कश्यप कड़े संघर्ष के बाद दूसरे दौर में हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गए।
राष्ट्रमंडल खेलों के चैंपियन कश्यप को दूसरे दौर में कोरिया के युवा खिलाड़ी जियोन हियोक जिन ने 50 मिनट तक चले तीन गेमों के संघर्ष में 21-10 10-21 21-15 से हराकर बाहर कर दिया। एक अन्य मैच में दूसरी वरीय प्रणय ने स्कॉटलैंड के कीरेन मैरीलीस को एक घंटे, आठ मिनट में 21-17, 16-21, 21-15 से हराकर अंतिम सोलह दौर में जगह पक्की कर ली। उनका अगला मुकाबला नौवीं सीड जियोन हियोक जिन से होगा।
इसके अलावा अभिषेक येलेगर ने अमेरिका के हॉवर्ड शू को 21-10 19-21 21-17 से हराया और तीसरे दौर में जगह बना ली। करन राजन राजाराजन ने इंग्लैंड के सैम पार्संस को 21-16, 21-14 से हराकर तीसरे दौर में जगह बना ली, जहां उनका मुकाबला जापान के कोकी वाताबे से होगा।

भारत ने चिली को 1-0 से हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया

प्रीति दुबे के गोल की बदौलत भारत ने बुधवार को एफआईएच महिला हॉकी विश्व लीग सेमीफाइनल्स में चिली को 1-0 से हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया।
प्रीति ने 38वें मिनट में यह गोल किया। भारतीय महिला टीम की टूर्नामेंट में यह पहली जीत है। इससे पहले उसने दक्षिण अफ्रीका के साथ गोलरहित ड्रॉ खेला था, जबकि अमेरिका ने उसे 4-1 से हरा दिया था। दोनों टीमों ने पहले क्वार्टर में पेनल्टी कॉर्नर हासिल किए। चिली को चौथे और भारत को 12वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन दोनों ही टीमें उन्हें गोल में तब्दील नहीं कर सकीं। दूसरे क्वार्टर में चिली ने भारत को रोकने का प्रयास किया, लेकिन वह उसे मौकों को अपने पक्ष में मोड़ने से नहीं रोक सका।
19वें मिनट में अनूपा बार्ला ने चिली की खिलाड़ी से बॉल छीनकर गोल करने का प्रयास का प्रयास किया, लेकिन वह इसमें कामयाब नहीं हो पाईं। इस तरह पहले हाफ में दोनों टीमों की ओर से कोई गोल नहीं किया जा सका। दूसरे हाफ में रानी और प्रीति ने एक के पीछे एक आकर विपक्षी सर्किल में चिली की गोलकीपर को चकमा देकर भारत के लिए पहला गोल किया। इसके बाद भारत ने एक के बाद एक हमले किए जिससे चिली दबाव में आ गया। इस बीच रानी के एक प्रयास को चिली की गोलकीपर ने नाकाम कर दिया।
इसके बाद रेणुका यादव को यलो कार्ड दिखाए जाने के चलते भारत को चौथा क्वार्टर दस खिलाड़ियों के साथ खेलना पड़ा। आखिरी 15 मिनट में चिली ने भारत की रक्षापंक्ति को तोड़ने के कई प्रयास किए, लेकिन वह गोल करने में नाकाम रहा। पूल बी में भारत का अंतिम मैच 16 जुलाई को अर्जेंटीना से होगा।

देश में टेबल टेनिस लीग भी रंग जमाने को तैयार

बैडमिंटन, फुटबॉल, हॉकी, कुश्ती और कबड्डी लीग के बाद अब देश में टेबल टेनिस लीग भी रंग जमाने को तैयार है। देश की पहली पेशेवर लीग, अल्टीमेट टेबल टेनिस (यूटीटी) गुरुवार से चेन्नई में शुरू होगी। इसमें देश के शीर्ष पैडलर्स हिस्सा लेंगे।दे
बाकी खेलों की शहर केंद्रित लीग के उलट यूटीटी लीग फ्रेंचाइजी केंद्रित होगी। पहले लीग में इसमें छह फ्रेंचाइजी क्लब भाग ले रहे हैं। अभिनेता आमिर खान लीग के ब्रांड एंबेसडर होंगे। सभी मैचों का सीधा प्रसारण किया जाएगा।
पुरुषों में वर्ग में दुनिया के नंबर आठ खिलाड़ी हांगकांग के वांग चुन तिंग और महिलाओं में नंबर नौ जर्मनी खिलाड़ी हान यिंग आकर्षण का केंद्र होंगी। लीग का पहला मैच आरपी – एसजी मैवरिक (जिसमें भारतीय दिग्गज शरत कमल, स्टीफन फेगरल और सेबिन विंटर शामिल हैं) और फॉल्कंस टीटीसी (वु यांग, ली हो चोंग, पार गेरेल और सनिल शेट्टी होंगें) के बीच होगा। अन्य फ्रेंचाइजी में शेज चैलेंजर्स, दबंग स्मैशर्स टीटीसी, महाराष्ट्र यूनाईटेड और ऑयलमैक्स- स्टेज योद्धाज शामिल हैं।
6 फ्रेंचाइजी क्लब ले रहे हैं हिस्सा, कुल 48 खिलाड़ी (24 पुरुष और 24 महिलाएं) होंगे शामिल
1 क्लब में होंगे आठ खिलाड़ी (इसमें भारतीय और विदेशी खिलाड़ियों की बराबर संख्या होगी )
3 शहरों में अलग- अलग चरणों में होगी लीग
फिल्म स्टार आमिर खान होंगे लीग के ब्रांड एंबेसडर
हर क्लब के साथ होगा एक भारतीय और एक विदेशी कोच

क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर और विराट कोहली के बाद सम्मान पाने वाले शख्स बने शमिंदर

खेल के मैदान में खिलाड़ियों का हुनर तो हर कोई देखता है, लेकिन कई ऐसी प्रतिभाएं भी होती हैं जो मैदान के बाहर बैठकर भी लोगों का दिल जीत लेती हैं। ऐसी ही एक प्रतिभा हैं पंजाब के फगवाड़ा जिले के गांव धानोकी के शमिंदर सिंह, जिन्होंने 12000 टूथपिक्स से विम्बल्डन के सेंटर कोर्ट का हूबहू मॉडल तैयार किया है।
जब विम्बल्डन के आयोजकों ने यह देखा तो वे भी अभिभूत हुए बिना नहीं रह सके। उन्होंने 15 जुलाई को सेंटर कोर्ट पर खेले जाने वाला महिला फाइनल मैच देखने के लिए शमिंदर को खास न्योता दिया। इससे पहले सिर्फ क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर और विराट कोहली को ही आयोजकों ने मेहमान के तौर पर बुलाया था। शमिंदर यह सम्मान पाने वाले पहले गैर खिलाड़ी भारतीय हैं।
31 वर्षीय शमिंदर को यह मॉडल तैयार करने में करीब दस माह का समय लगा। उन्होंने इस पर पिछले साल सितंबर में काम शुरू किया था और यह तीन जुलाई को बनकर तैयार हुआ। इस स्टेडियम का डिजाइन बहुत अनोखा है। फेमस टेनिस कोर्ट के इस मॉडल में खुलने और बंद होने वाली छत, बाल्कनी, सीढ़ियां और सबसे अहम रॉयल बॉक्स भी है। पेशे से ट्रक ड्राइवर शमिंदर का टूथपिक से मॉडल तैयार करना जुनून बन गया है।
उन्होंने लंदन से फोन पर बताया कि मैंने दस माह पहले इस पर काम शुरू किया था। हर हफ्ते, 40 घंटे इस पर काम किया। मैं कुछ अलग बनाना चाहता था, कुछ खास। वह इसे बच्चों की मदद के लिए नीलाम करना चाहते हैं। नीलामी से जो भी रकम मिलेगी उसे यूनिसेफ के सेव चिल्ड्रेन में दान करूंगा।
ओल्ड ट्रैफर्ड स्टेडियम का मॉडल भी बना चुके हैं : शमिंदर इससे पहले ओल्ड ट्रैफर्ड और मैनचेस्टर फुटबॉल स्टेडियम का भी मॉडल बना चुके हैं, जो टूथपिक से बनाया गया दुनिया का सबसे छोटा मॉडल है। मैनचेस्टर फुटबॉल स्टेडियम के लिए नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज है।

भारत एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप में पहली बार पदक तालिका में पहले स्थान पर

भारत रविवार को इतिहास रचते हुए एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप में चीन को पीछे छोड़ते हुए पहली बार पदक तालिका में पहले स्थान पर रहा।
भारत ने अपना दबदबा बनाकर रविवार को यहां पांच स्वर्ण, एक रजत और तीन कांस्य पदक जीते और इस तरह से पदक तालिका में शीर्ष रहकर इतिहास रचा तथा चीन को दूसरे स्थान पर खिसका दिया। भारत इस तरह से कुल 29 पदकों (12 स्वर्ण, पांच रजत और 12 कांस्य) के साथ वह शीर्ष पर रहा। भारत का इससे पहले एशियन चैंपियनशिप में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 1985 में जकार्ता में 22 पदक (दस स्वर्ण, पांच रजत और सात कांस्य) था। चीन आठ स्वर्ण, सात रजत और पांच कांस्य पदक लेकर दूसरे स्थान पर रहा। उसने रविवार को तीन स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य पदक जीता।
हरियाणा के नीरज चोपड़ा ने रविवार को जेवलिन थ्रो में स्वर्ण पदक जीतकर चैंपियनशिप को अपने लिए यादगार बना दिया। पानीपत जिले के खंडरा गांव के 20 वर्षीय नीरज ने 85.23 मीटर की दूरी तक भाला फेंककर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सीनियर वर्ग में पहला स्वर्ण पदक जीता। भारत के देवेंद्र सिंह (83.29 मी.) इस स्पर्धा में तीसरे स्थान पर रहे। नीरज ने पिछले हफ्ते पेरिस में हुई डायमंड लीग में सीनियर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदार्पण किया था, जहां वह पांचवें स्थान पर रहे थे। नीरज पिछले साल पोलैंड में जूनियर विश्व चैंपियनशिप में रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीतकर सुर्खियों में आए थे।
अर्चना से छिना स्वर्ण पदक: भारत को हालांकि आखिरी दिन एक झटका भी लगा जब अर्चना अधव से श्रीलंका की निमाली वालिवर्षा कोंडा के विरोध के बाद महिलाओं की 800 मीटर दौड़ का स्वर्ण पदक छीन लिया गया और श्रीलंकाई एथलीट को चैंपियन घोषित कर दिया गया। पुणो की 22 वर्षीय अर्चना ने दो मिनट, 02 सेकंड में दौड़ पूरी करके 800 मीटर का स्वर्ण पदक जीता था, लेकिन निमाली ने बाद में विरोध दर्ज कराया कि भारतीय एथलीट ने फिनिश लाइन पर उन्हें पीछे से धक्का दिया था। इसके बाद अर्चना को अयोग्य घोषित कर दिया गया और दो मिनट, 05.23 सेकंड में दौड़ पूरी करने वाली निमाली को स्वर्ण पदक दे दिया गया। रजत श्रीलंका की ही गयंतिका अबेयरत्ने (2:05.27) को और कांस्य पदक जापान की फूमिका ओमारी (2:06.50) को मिला।
स्वप्ना ने खोला स्वर्ण का खाता: इसके बावजूद कलिंग स्टेडियम में भारतीय एथलीटों का दबदबा रहा। हेप्टाथलन में स्वप्ना बर्मन ने भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाया। बर्मन सातवीं और अंतिम स्पर्धा (800 मीटर) में चौथे स्थान पर आने के बावजूद स्वर्ण पदक जीतने में सफल रहीं। उनके पास खिताब जीतने के लिए पर्याप्त अंक थे। बंगाल की इस 20 वर्षीय एथलीट ने सात स्पर्धाओं में कुल 5942 अंक बनाए। वह 800 मीटर की दौड़ पूरी करने के तुरंत बाद गिर गयीं और उन्हें तुरंत चिकित्सा मुहैया करायी गयी। जापान की मेग हेंपिल 5883 अंक लेकर दूसरे और पूर्णिमा हेम्ब्रम 5798 अंक के साथ तीसरे स्थान पर रहीं।
लक्ष्मणन का गोल्डन डबल: पुरुषों की दस मीटर दौड़ में गोविंदन लक्ष्मणन (29 मिनट, 55.87 सेकंड) ने स्वर्ण पदक जीतकर गोल्डन डबल पूरा किया। भारत के लिए गोपी थोंकनाल (29 मिनट, 29.89 सेकंड) ने रजत पदक पर कब्जा किया। लक्ष्मणन ने पहले दिन पांच हजार मीटर दौड़ में भी पीला तमगा जीता था। जिनसन जॉनसन ने पुरुषों की 800 मी. दौड़ में एक मिनट, 50.07 सेकंड का समय निकाला और तीसरे स्थान पर रहे।
रिले टीमों ने भी दिखाया दम: इसके बाद महिलाओं की चार गुणा चार सौ मीटर रिले टीम (निर्मला श्योराण, एम पूवम्मा, जिस्ना मैथ्यू और देबाश्री मजूमदार) ने 3:31.34 सेकंड के साथ पहला स्थान हासिल कर देश को चौथा, जबकि पुरुषों ने इसी स्पर्धा में पीला तमगा जीतकर पांचवां स्वर्ण दिलाया। कुन्हू मुहम्मद, मुहम्मद अनस, राजीव अरोकिया और अमोज जैकब की पुरुष टीम ने तीन मिनट, 2.92 सेकेंड का समय निकाला।

क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने के लिए विक्टोरिया का सामना सिमोना हालेप से होगा

मां बनने के बाद पहला ग्रैंडस्लैम टेनिस टूर्नामेंट खेल रही पूर्व नंबर एक खिलाड़ी विक्टोरिया अजारेंका ने विम्बल्डन के अंतिम-16 में प्रवेश कर लिया। अब क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने के लिए विक्टोरिया का सामना सिमोना हालेप से होगा।
दो बार की ग्रैंडस्लैम चैंपियन बेलारूस की विक्टोरिया ने तीसरे दौर में ब्रिटेन की हीथर वॉटसन को 3-6, 6-1, 6-4 से शिकस्त दी। रोमानिया की हालेप ने चीन की पेंग शुई को 6-4, 7-6 से हराया। अन्य मैचों में डेनमार्क की कैरोलिन वोज्नियाकी ने बुल्गारिया की स्वेतलाना पिरोंकोवा को 6-3, 6-4 से, फ्रांस की कैरोलिन गार्सिया ने अमेरिका की मेडिसन ब्रेंगल को 6-3, 6-4 से और क्रोएशिया की एना कोंजुह ने स्लोवाकिया की डोमिनिका सिबुलकोवा को 7-6, 3-6, 6-4 से मात देकर चौथे दौर में जगह बनाई।

राहुल जौहरी जमैका में भारतीय कप्तान विराट कोहली और उनकी टीम से मुलाकात करके करेंगे नए मुख्य कोच की नियुक्ति पर प्रतिक्रिया लेने का प्रयास

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) राहुल जौहरी जमैका में भारतीय कप्तान विराट कोहली और उनकी टीम से मुलाकात करके नए मुख्य कोच की नियुक्ति पर प्रतिक्रिया लेने का प्रयास करेंगे।
जौहरी बुधवार शाम को किंग्सटन पहुंच गए हैं और वह कोच और अन्य सहयोगी स्टाफ की नियुक्ति पर कोहली के साथ विस्तृत चर्चा करेंगे।
बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि हां, राहुल प्रशासकों की समिति (सीओए) की अनुमति लेकर जमैका गए हैं। उन्हें कप्तान और टीम से प्रतिक्रिया लेने का काम सौंपा गया है। इसके बाद क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के सामने उनके विचार बताए जाएंगे ताकि वे इन चीजों को ध्यान में रख सकें।
कइयों को लग रहा है कि बीसीसीआई और सीओए ने यह कदम टीम के विचारों को जानने की कोशिश के तहत उठाया है, क्योंकि वे नई नियुक्ति में किसी तरह का मनमुटाव नहीं चाहते। कुछ दिन पहले कोहली ने कहा था कि वह तभी विचार व्यक्त करेंगे जब बीसीसीआई इसके बारे में उनसे पूछेगा।
कोहली ने सीरीज के एंटीगा चरण के दौरान मीडिया से कहा था कि निजी विचारों की बात करें तो मैं किसी भी चीज का इशारा नहीं कर सकता या जानकारी नहीं दे सकता। हम बतौर टीम अपनी राय तभी व्यक्त करते हैं जब बीसीसीआई सुझाव मांगती है। इसलिए हम हमेशा प्रतिक्रिया के हिसाब से चलते हैं और बतौर टीम इसका सम्मान करते हैं।
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) राहुल जौहरी जमैका में भारतीय कप्तान विराट कोहली और उनकी टीम से मुलाकात करके नए मुख्य कोच की नियुक्ति पर प्रतिक्रिया लेने का प्रयास करेंगे। जौहरी बुधवार शाम को किंग्सटन पहुंच गए हैं और वह कोच और अन्य सहयोगी स्टाफ की नियुक्ति पर कोहली के साथ विस्तृत चर्चा करेंगे। बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि हां, राहुल प्रशासकों की समिति (सीओए) की अनुमति लेकर जमैका गए हैं। उन्हें कप्तान और टीम से प्रतिक्रिया लेने का काम सौंपा गया है। इसके बाद क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के सामने उनके विचार बताए जाएंगे ताकि वे इन चीजों को ध्यान में रख सकें। कइयों को लग रहा है कि बीसीसीआई और सीओए ने यह कदम टीम के विचारों को जानने की कोशिश के तहत उठाया है, क्योंकि वे नई नियुक्ति में किसी तरह का मनमुटाव नहीं चाहते। कुछ दिन पहले कोहली ने कहा था कि वह तभी विचार व्यक्त करेंगे जब बीसीसीआई इसके बारे में उनसे पूछेगा। कोहली ने सीरीज के एंटीगा चरण के दौरान मीडिया से कहा था कि निजी विचारों की बात करें तो मैं किसी भी चीज का इशारा नहीं कर सकता या जानकारी नहीं दे सकता। हम बतौर टीम अपनी राय तभी व्यक्त करते हैं जब बीसीसीआई सुझाव मांगती है। इसलिए हम हमेशा प्रतिक्रिया के हिसाब से चलते हैं और बतौर टीम इसका सम्मान करते हैं।