एंजेलिक कर्बर और सिमोना हालेप ने धमाकेदार प्रदर्शन का सिलसिला जारी

एंजेलिक कर्बर और सिमोना हालेप ने धमाकेदार प्रदर्शन का सिलसिला जारी रखते हुए ऑस्ट्रेलियन ओपन टेनिस चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। इस बीच जायंट किलर चुंग हियोन ने उलटफेर का क्रम जारी रखते हुए पुरुष एकल सेमीफाइनल में जगह बनाई।
महिला एकल में 2016 की चैंपियन कर्बर ने अमेरिका की मेडिसन कीज को 6-1, 6-2 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। अब उनका मुकाबला दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी सिमोना हालेप से होगा। कर्बर लगातार 14 मैच जीत चुकी हैं। हालेप ने छठे क्रम की केरोलिना प्लिसकोवा को 6-3, 6-2 से पराजित किया। हालेप पहले सेट में 0-3 से पिछड़ गई थी, लेकिन उन्होंने इसके बाद धमाकेदार वापसी कर लगातार 9 गेम जीते।
पुरुष वर्ग में धमाकेदार प्रदर्शन कर रहे चुंग ने अमेरिका के टेनिस सेंडग्रेन को 6-4, 7-6 (5), 6-3 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। वे 2004 में मरात साफिन के बाद इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंचने वाले सबसे कम रैंक के खिलाड़ी बने। 58वें क्रम के चुंग किसी ग्रैंड स्लैम स्पर्धा के सेमीफाइनल में पहुंचने वाले पहले कोरियाई खिलाड़ी बने। अब चुंग का मुकाबला गत विजेता रॉजर फेडरर से होगा, जिन्होंने टॉमस बर्डिच को 7-6 (1), 6-3, 6-4 से हराया।

आसियान समिट में हिस्सा लेने के लिए समुह के देशों के प्रमुख दिल्ली पहुंचे

आसियान समिट में हिस्सा लेने के लिए इस समुह के देशों के प्रमुख दिल्ली पहुंचे हैं। यह सभी 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस सामरोह के मेहमान भी हैं। इन मेहमानों में एक ऐसे भी हैं जो अपने देश से भारत तक अपना विमान खुद उड़ाकर पहुंचे हैं।
एक अंग्रेजी अखबार की खबर के अनुसार ब्रुनेई के सुल्तान हसनल बोल्किया गुरुवार को आसियान सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे और इसके बाद पीएम मोदी से मुलाकात की। उनकी इस भारत यात्रा की सबसे खास बात यह रही कि मोदी सरकार बनने के बाद पहली बार भारत दौरे पर आए ब्रुनेई के सुल्तान खुद 5000 किमी तक अपना जम्बो जेट उड़ाकर लाए।
दिल्ली में उनको कॉकपीट में देखना कई लोगों के लिए आश्चर्य का विषय था। हालांकि, यह पहली बार नहीं है जब सुल्तान ने खुद अपना विमान उड़ाया हो। इसके पहले भी जब वो 2008 और 2012 में भारत आए थे तब वो खुद ही विमान उड़ाकर लाए थे।
बता दें कि पिछले साल अक्टूबर में ही उनके गद्दी पर 50 साल पूरे होने का भव्य जश्न मनाया गया था। ब्रुनेई के सुल्तान दुनिया के सबसे रईस राज परिवारों में से एक हैं। ब्रुनेई सुल्तान को विमान उड़ाने के अलावा कारों का भी शौक है और कहा जाता है कि रॉयल फैमिली के पास 100 से ज्यादा वाहन हैं।

पेट्रोल-डीजल के दामों में देशव्यापी बढ़ोत्तरी

पेट्रोल-डीजल के दामों में देशव्यापी बढ़ोत्तरी से ईंधन छह महीनों के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। इंदौर में बुधवार को डीजल 66 रुपए 39 पैसे जबकि पेट्रोल 77.53 रुपए प्रति लीटर बिका। मप्र में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में अभी और इजाफा होगा। राज्य सरकार द्वारा थोपा गया अतिरिक्त उपकर इस कीमत में शामिल नहीं है। बजट से पहले ही इस बढ़ोत्तरी की भी उम्मीद की जा रही है।
बीते करीब दस दिनों से ईंधन के दामों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। इंदौर पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्रसिंह वासु के मुताबिक, डीजल के दाम 15 जनवरी को 64 रुपए 68 पैसे प्रति लीटर थे, 24 जनवरी को 66 रुपए 39 पैसे हो गए। छह महीनों में डीजल का यह उच्चतम स्तर है। पेट्रोल 77.53 पैसे पहुंच चुका है। इसके शीर्ष स्तर छूने में महज 40-50 पैसे की कमी है। खास बात यह है कि कीमतों में हुई इस बढ़ोतरी के लिए वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल के दाम बढ़ने को जिम्मेदार बताया जा रहा है। यानी इस वृद्धि में अभी प्रदेश स्तर पर लागू हुआ उपकर यानी सेस शामिल नहीं हुआ है।
बीते दिनों ही प्रदेश सरकार ने ईंधन पर 50 पैसे प्रति लीटर उपकर यानी सेस लगाने का निर्णय लिया था। अब साफ हो रहा है कि ईंधन पर लगने वाला सेस 50 पैसे प्रति लीटर न लगकर प्रतिशत के अनुपात में लागू होगा। ऐसे कीमतों में 70 पैसे से 1 रुपए तक की ओर बढ़ोतरी की आशंका जताई जा रही है।
कर सलाहकार आरएस गोयल के मुताबिक ईंधन पर पहली बार प्रदेश में सेस लगाया गया है। इस बारे में अध्यादेश जारी हो चुका है लेकिन नोटिफिकेशन आना बाकी है। अध्यादेश के मुताबिक टैक्सेबल टर्नओवर का एक प्रतिशत सेस लागू होना है। उम्मीद की जा रही है कि बजट के पहले ही इस बारे में नोटिफिकेशन जारी हो जाएगा। नोटिफिकेशन के जारी होते ही ईंधन की कीमतें और बढ़ जाएंगी।