विश्वनाथन आनंद नेजीत लिया विश्व रैपिड शतरंज चैंपियनशिप खिताब

विश्व चैंपियन मैग्नस कार्लसन को हराने के बाद विश्वनाथन आनंद ने शानदार लय बरकरार रखते हुए रियाद में विश्व रैपिड शतरंज चैंपियनशिप खिताब जीत लिया । आनंद ने दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी कार्लसन को नौवें दौर में हराकर 2013 विश्व चैंपियनशिप में मिली हार का बदला चुकता कर लिया।
उन्होंने 2013 में यह खिताब कार्लसन को गंवाया था, जबकि 2003 में उन्होंने फाइनल में ब्लादीमिर क्रैमनिक को हराकर खिताब जीता था। वह आखिरी पांच राउंड की शुरुआत के समय संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर थे जब रूस के ब्लादीमिर फेडोसीव और इयान नेपोम्नियाश्चि के भी 15 में से 10.5 अंक थे। आनंद ने टाईब्रेकर में फेडोसीव को 2-0 से हराकर खिताब जीता ।
आनंद ने 14वें राउंड में सफेद मोहरों से रूस के अलेक्जेंडर ग्रिसचुक को हराने से पहले दो ड्रॉ खेले। दूसरी ओर कार्लसन को रूस के ब्लादीस्लाव अर्तेमीव ने ड्रॉ पर रोका, जिससे आनंद उनके साथ संयुक्त शीर्ष पर आ गए ।
आखिरी दौर में आनंद ने चीन के बू शियांग्जी से ड्रॉ खेला, जबकि कार्लसन को ग्रिसचुक के हाथों अप्रत्याशित हार झेलनी पड़ी। 15 दौर के बाद आनंद छह जीत और नौ ड्रॉ के बाद अपराजेय रहे। इस सत्र में खराब फॉर्म से जूझ रहे आनंद ने वर्ष का अंत खिताबी जीत से करके नए सत्र के लिए उम्मीदें जगाई हैं।

हैदराबाद की एक लड़की जाह्ववी मगांती ने बनाई 140 वर्गमीटर क्षेत्र पर पेंटिंग

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल होने की कोशिश के तहत हैदराबाद की एक लड़की जाह्ववी मगांती (18) ने अपने पैर से 140 वर्गमीटर क्षेत्र पर पेंटिंग की है।
जाह्ववी का दावा है कि उसने पैर से सबसे बड़ी पेंटिंग बनाने का रिकॉर्ड बना लिया है। जाह्वावी ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी ऑफ वार्विक की छात्रा हैं और उन्होंने वर्तमान 100 वर्गमीटर पेंटिंग के रिकॉर्ड को तोड़ा है।
जाह्वावी एक कलाकार होने के साथ-साथ नृत्यांगना, शास्त्रीय गायिका और राष्ट्रीय स्तर की बास्केटबॉल खिलाड़ी भी हैं। उनमें नृत्य करते-करते पेंटिंग करने की विशेष प्रतिभा भी है। हाल ही में उन्होंने नृत्य करते-करते अपने पैर से कमल का फूल और मोर के पंखों की पेंटिंग बनाई थी।

बिना वैध दस्‍तावेजों के भारत में रह रहे चार बांग्‍लादेशी महिलाओं को दो साल की जेल

मुंबई के ठाणे में एक अदालत ने बिना वैध दस्‍तावेजों के भारत में रह रहे चार बांग्‍लादेशी महिलाओं को दो साल की जेल की सजा सुनाई है।
ठाणे एड-हॉक डिस्ट्रिक्‍ट जज और असिस्‍टेंट सेशंस जज आर एस पाटिल ने शुकी हारुन मुल्‍ला, जन्‍ना नूरी इस्‍लाम शेख समेत चार महिलाओं को गुरुवार को ये सजा सुनाई। उन पर 10 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है।
अभियोजन पक्ष ने बताया कि इंस्‍पेक्‍टर संजय भांगर के नेतृत्‍व में ठाणे डिस्ट्रिक्‍ट रुरल पुलिस की एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल ने इस साल जनवरी और फरवरी में काशीमिरा टाउनशिप में छापेमारी की थी और चार बांग्‍लादेशी महिलाओं को हिरासत में लिया था।
अभियोजक विनीत कुलकर्णी, उज्‍वला मोहोलकर और वंदना जाधव ने अदालत से कहा कि काशीमिरा टाउनशिप में चार महिलाएं रहती थीं और दिहाड़ी का काम करती थीं। पकड़े जाने के बाद पुलिस ने उन्‍हें अपना वैध दस्‍तावेज दिखाने को कहा। मगर वह नहीं दिखा पाईं। पुलिस जांच में पता चला कि भारत में रहने के लिए महिलाओं के पास पासपोर्ट, वीजा या कोई वैध दस्‍तावेज नहीं है।
अपने फैसले में जज ने कहा कि गरीबी और बेरोजगारी के कारण महिलाएं अवैध रूप से भारत आईं। उन्‍होंने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि आरोपी गरीब हैं और वे यहां किसी अवैध गतिविधि में संलिप्‍त नहीं थीं। मगर अवैध रूप से किसी देश में प्रवेश करना गलत है।

भाजपा के खिलाफ चुनाव प्रचार करेंगे पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल

गुजरात में भाजपा की खिलाफत करने मैदान में उतरे पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल के तेवर अभी कमजोर नहीं पड़े हैं। गुजरात चुनाव में उन्हें भले ही भाजपा को परास्त करने में सफलता नहीं मिली हो लेकिन, अब वे मध्यप्रदेश में होने वाले 2018 के विधानसभा चुनाव में भी भाजपा के खिलाफ चुनाव प्रचार करेंगे ।
उन्होंने कहा कि वे आने वाले एक महीने में समाज के लोगों से बातचीत कर मप्र में सक्रियता को लेकर अपनी रणनीति को अंतिम रूप देंगे। पाटीदार अमानत आंदोलन समिति की बैठक में इस पर चर्चा होगी।
मैं जरूर आऊंगा- विधानसभा चुनाव 2018 को अभी देर है। मैंने समाजहित का काम करने का बीड़ा उठाया है। मप्र भी जरूर आऊंगा और भाजपा के खिलाफ प्रचार करूंगा।
कांग्रेस का साथ नहीं – न मैं गुजरात में कांग्रेस के साथ था न ही मप्र में कांग्रेस के साथ रहूंगा। जो भी समाजहित की बात करेगा, हम उसके साथ हैं।
मप्र की रणनीति समाज तय करेगा – मप्र में जल्द ही सक्रियता बढ़ाई जाएगी। क्या रणनीति होगी, कब से दौरे होंगे, ये सारी बातें समाज के लोग मिल-बैठकर तय करेंगे।
मंदसौर किसान गोलीकांड का विरोध करेंगे-मंदसौर किसान आंदोलन में निर्दोष किसानों पर गोलियां चलाई गईं। मैं भी इसके विरोध में शाजापुर गया था। हम फिर किसानों के हक में आंदोलन खड़ा करेंगे।
मप्र पाटीदार समाज के अध्यक्ष महेंद्र पाटीदार के मुताबिक मध्यप्रदेश में 24 फीसदी जनसंख्या पाटीदारों की है। जिसमें कुल्मी पटेल और कुल्मी पाटीदार शामिल हैं। उन्होंने कहा कि हम सौ फीसदी हार्दिक पटेल के साथ हैं। पाटीदार समाज का दावा है कि प्रदेश की 58 सीटों को पाटीदार वोट प्रभावित करते हैं। जो ज्यादातर मालवा-निमाड़ सहित रीवा और सागर संभाग में निवास करते हैं। पाटीदार के मुताबिक प्रदेश में 1 करोड़ 42 लाख लोग पाटीदार समाज के हैं।
मध्यप्रदेश पाटीदार समाज इन दिनों सरकार से खफा है। उनका कहना है कि पिछले कई सालों से हमारे समाज के किसी नेता को मंत्री नहीं बनाया गया। सरकार ने हमें ओबीसी का दर्जा तो दे रखा है लेकिन भोपाल, सीहोर और राजगढ़ में सरकार हमें ओबीसी नहीं मानती है। फसल के दाम नहीं मिल रहे हैं। महेंद्र पाटीदार के मुताबिक किसानों ने पहले 5 हजार रुपए तक सोयाबीन बेचा पर अब 2 हजार में बेचना पड़ रहा है। फसल के आधे दाम मिल रहे हैं जबकि खाद बीज के दाम दिन पर दिन बढ रहे हैं।