अवैध प्रवासियों की धरपकड़ के राष्ट्रपति ट्रंप के एजेंडे को प्रशासन सख्ती से ला रहा अमल में

अमेरिका में अवैध प्रवासियों की धरपकड़ के राष्ट्रपति ट्रंप के एजेंडे को वहां का प्रशासन सख्ती से अमल में ला रहा है। करीब एक साल में आंतरिक सुरक्षा से जुड़ी एजेंसियों ने 1,43,470 घुसपैठियों को गिरफ्तार किया है। पिछले वर्ष की तुलना में घुसपैठियों की गिरफ्तारी का यह आंकड़ा 42 प्रतिशत ज्यादा है।
डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रपति चुनाव में प्रचार दौरान अवैध आव्रजन की समस्या से अमेरिका को निजात दिलाने का वादा किया था। उन्होंने इन घुसपैठियों को अमेरिका में अपराध, ड्रग तस्करी, बेरोजगारी और अन्य सामाजिक समस्याओं के लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया था। 20 जनवरी को पदभार ग्र्रहण करने के बाद से ही उनके निर्देश पर प्रशासन इस वादे को अमल में लाने में जुट गया।
साल खत्म होने से पहले नतीजा सामने है। अमेरिका में अवैध तरीके से आए 1,43,470 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं और इन्हें वापस भेजे जाने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। साथ ही आव्रजन नियमों को भी कड़ा किया जा रहा है। आधा दर्जन मुस्लिम देशों से आमद को भी रोका गया था, हालांकि उस प्रतिबंध को कोर्ट ने रद कर दिया।
इन तरीकों से वैध दस्तावेजों से अमेरिका आने वालों की संख्या भी कम की जा रही है। इससे अमेरिका की आबादी कम होगी और वहां के लोगों की सुविधाओं में इजाफा होगा। इससे ट्रंप के अमेरिका फर्स्ट के नारे को बल मिलेगा।

एक लड़की ने खुद को लड़का बनाकर तीन लड़कियों को बेवकूफ बनाकर उनसे शादी की।

आंध्र प्रदेश के कडापा जिले में एक अजीबोगरीब मामाला सामने आया है। यहां 17 वर्षीय एक लड़की ने खुद को लड़का बनाकर पेश किया और तीन अन्य लड़कियों को बेवकूफ बनाकर उनसे शादी की।
आरोपी की पहचान कसीनयान मंडल के इटिका लापुडू गांव की रहने वाली रामादेवी के रूप में हुई है। शादी के दो महीने बाद ही रमादेवी की तीसरी पत्नी को उसके राज के बारे में पता चल गया।
उसने अपने माता-पिता को इस धोखे-धड़ी के बारे में बताया, जिन्होंने बाद में इस घटना के बारे में पुलिस को सूचित किया। रामदेवी कथिततौर पर तमिलनाडु में एक निजी सूत मिल में काम करती थी। उसने इस लड़की की मित्रता की, जो पेद्दमुदियाम मंडल में भीमगुंडम गांव की रहने वाली और रमादेवी की साथी कर्मचारी थी।
रमादेवी ने इस लड़की को धोखे में रखा कि वह लड़का है और प्यार में झांसा देकर उसके साथ शादी कर ली।हालांकि, दो महीनों के बाद इस लड़की को रमादेवी के राज के बारे में पता चल गया।
साल 2018 में दो चंद्र ग्रहण और तीन सूर्य ग्रहण होंगे, जानें कब होगी यह खगोलीय घटना
पुलिस की जांच में पता चला कि रमादेवी ने इससे पहले कदपा में प्रोदातुर की 16 वर्षीय लड़की और आंध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले के कोठेरावुवा गांव की 17 वर्षीय एक अन्य लड़की से शादी की। रमादेवी ने उन दोनों को भी यह झांसा दिया था कि वह लड़का है।
हालांकि, पुलिस ने इस मामले में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं की है। पुलिस ने पहली दो दुल्हनों को काउंसलिंग के लिए भेजा है क्योंकि उनकी मानसिक स्थिति कथित रूप से अस्थिर है। पुलिस ने रामादेवी के खिलाफ इस मामले में अभी कोई चार्ज नहीं लगाए हैं, लेकिन उसे भी काउंसलिंग के लिए भेजा है।

अतिथि शिक्षकों के लिए पद आरक्षित

चुनावी साल में राज्य सरकार 31 हजार से ज्यादा बेरोजगारों को संविदा शिक्षक बनाने की तैयारी कर रही है। इसमें अतिथि शिक्षकों को भी प्राथमिकता दी जाना है। स्कूल शिक्षा विभाग ने भर्ती नियमों में संशोधन कर प्रस्ताव शासन को भेज दिया है। अब जून से पहले चयन परीक्षा कराने की कोशिश है। शासन अधिसूचना जारी होने के बाद प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) को परीक्षा की तारीख तय करने का प्रस्ताव भेजेगा।
प्रदेश में शिक्षकों के 60 हजार से ज्यादा पद खाली हैं। फिर भी वर्ष 2013 से संविदा शिक्षक परीक्षा टल रही है। सरकार ने विधानसभा चुनाव से ठीक पहले परीक्षा कराने का निर्णय लिया था और तभी से लगातार प्रक्रिया चल रही है। अब तक करीब पांच बार भर्ती नियमों में संशोधन किया जा चुका है।
वैसे विभाग का दावा है कि इस बार भर्ती नियम जारी होने के एक महीने के अंदर परीक्षा करा लेंगे, लेकिन ये पीईबी की तैयारी पर निर्भर होगा। यह परीक्षा 31 हजार 658 पदों के लिए होगी। उल्लेखनीय है कि इससे पहले वर्ष 2011 में संविदा शिक्षक परीक्षा हुई थी।
नए नियमों में अतिथि शिक्षकों के लिए 25 फीसदी पद आरक्षित कर दिए गए हैं। वहीं उन्हें अनुभव के अंक अलग से दिए जाएंगे। जिन्हें मिलाकर मेरिट तैयार होगी और मेरिट के आधार पर भर्ती होगी।
विभाग पहले फरवरी 2018 में परीक्षा कराने की तैयारी कर रहा था, लेकिन भर्ती में अतिथि शिक्षकों को प्राथमिकता देने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की 25 फीसदी पद आरक्षित करने की घोषणा के बाद नियम संशोधन में समय लग गया। अब 15 जनवरी 2018 तक संशोधित नियम जारी होने की उम्मीद जताई जा रही है। आगे की कार्यवाही इसी के बाद शुरू होगी।