अमेरिका और दक्षिण कोरिया की वायु सेनाओं ने शुरू किया सबसे बड़ा संयुक्त अभ्यास

अमेरिका और दक्षिण कोरिया की वायु सेनाओं ने सोमवार से अपना सबसे बड़ा संयुक्त अभ्यास शुरू कर दिया। “विजिलेंट ऐस” नामक इस अभ्यास में दोनों देशों के अत्याधुनिक 230 लड़ाकू विमान हिस्सा ले रहे हैं। इनमें 24 स्टील्थ लड़ाकू विमान शामिल हैं। यह अभ्यास उत्तर कोरिया के लंबी दूरी के सफल बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण के छह दिन बाद हो रहा है।
उत्तर कोरिया ने इस अभ्यास को परमाणु युद्ध भड़काने का प्रयास बताया है। आठ दिसंबर तक चलने वाले इस संयुक्त अभ्यास में अमेरिका का पांचवीं पीढ़ी का लड़ाकू विमान एफ-22 रैप्टर भी हिस्सा लेगा। यह अत्याधुनिक विमान अमेरिका ने किसी अन्य देश को दिए बगैर ही उसका उत्पादन बंद कर दिया है। यह स्टील्थ विमान है जो किसी भी रडार की पकड़ में नहीं आता है।
इस अभ्यास में करीब 12 हजार सैनिक हिस्सा ले रहे हैं, नौसेना भी इसमें सीमित भूमिका निभा रही है। इस संयुक्त अभ्यास का महत्व इसलिए भी बढ़ गया है कि 28 नवंबर को किए बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण के बाद उत्तर कोरिया ने दावा किया था कि सभी अमेरिकी शहरों पर अब वह परमाणु हमला करने में सक्षम है।
युद्ध के करीब पहुंच रहे अमेरिका, उ.कोरिया तनाव बढ़ने के साथ ही अमेरिका में रिपब्लिकन पार्टी के प्रभावशाली सिनेटर लिंडसे ग्राहम ने चेताया है कि देश उत्तर कोरिया के साथ खतरनाक युद्ध के करीब पहुंचता जा रहा है। लिंडसे का अमेरिकी विदेश नीति में प्रभावशाली दखल रहता है।
ग्राहम ने कहा, “बैलिस्टिक मिसाइल और परमाणु हथियार के लगातार परीक्षण साबित करते हैं कि प्रतिबंधित देश तकनीक मामले में सुधार करता जा रहा है। ऐसे में हमारे पास ज्यादा विकल्प नहीं बचते हैं।” ट्रंप चाहते हैं परमाणु युद्ध होः उ. कोरियाउधर उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय ने बयान में कहा है कि अमेरिका और दक्षिण कोरिया ऐसी स्थितियां बना रहे हैं कि किसी भी समय परमाणु युद्घ भड़क सकता है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चाहते हैं कि परमाणु युद्ध हो।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बोला हमला

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई के दौरान कपिल सिब्बल की मांग को लेकर भाजपा ने आक्रामक रुख अपना लिया है। अमित शाह द्वारा इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस पर सवाल उठाने के बाद अब भाजपा के प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव का बयान आया है।
भाजपा प्रवक्ता ने ट्वीट करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को बाबर का भक्त और खिलजी का रिश्तेदार तक करार दे दिया है।
राव ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘अयोध्या में राम मंदिर का विरोध करने के लिए राहुल गांधी ने ओवैसिस, जिलानिस से हाथ मिला लिया है। राहुल गांधी निश्चित रूप से एक “बाबर भक्त” और “खिलजी के रिश्तेदार” हैं। बाबर ने राम मंदिर को नष्ट कर दिया और खिलजी ने सोमनाथ को लूट लिया। नेहरू वंश दोनों इस्लामी आक्रमणकारियों के पक्ष में है।’
गौरतलब है कि सुप्रीमकोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई के दौरान सुन्नी वक़्फ बोर्ड की तरफ़ से पैरवी कर रहे वकील और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि अपील पर सुनवाई अगले लोकसभा चुनाव के बाद जुलाई, 2019 में की जाए क्योंकि मौजूदा समय में माहौल सुनवाई के लिए माकूल नहीं हैं।
कपिल सिब्बल के दलील के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि जब भी कांग्रेस किसी मुद्दे पर एक अलग तरह का स्टैंड लेना चाहती है तब कपिल सिब्बल को आगे करती है। टू जी घोटाला हुआ तब भी कपिल सिब्बल आगे आए थे और गुजरात में आरक्षण का मसला आया तब भी पचास प्रतिशत से ज्यादा आरक्षण संभव है, ऐसा एक ओपिनियन लेकर कपिल सिब्बल ही आए थे। अब राम जन्मभूमि केस के रास्ते में रोड़े अटकाने के लिए कपिल सिब्बल कांग्रेस पार्टी की ओर से सुन्नी वक्फ़ बोर्ड के वकील के तौर पर आए हैं। भाजपा ने सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के सवाल पर कांग्रेस से उसका रुख स्पष्ट करने की मांग की है।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि रामजन्मभूमि केस की सुनवाई जल्द से जल्द हो, इस बात पर कांग्रेस सहमत है या नहीं? या कांग्रेस पार्टी भी चाहती है कि 2019 के चुनाव तक रामजन्मभूमि केस की सुनवाई न हो।

जिले के कुछ क्षेत्रों में थोड़ी देर तेज बारिश

सोमवार देर रात से शुरू हुई बूंदाबांदी के बाद प्रदेश के कई हिस्सों में मंगलवार सुबह का नजारा बदला हुआ था। कई शहरों-कस्बों के आसमान पर बादलों के कब्जे के चलते सूरज के दर्शन नहीं हो पा रहे थे तो कहीं बूंदाबांदी लोगों को भिगो रही थी।
यह बदलाव दक्षिण भारत व महाराष्ट्र में आए ओखी चक्रवात व दिल्ली में बने निम्नदाब के क्षेत्र की वजह से आया है। ग्वालियर के मौसम वैज्ञानिक सुनील गोधा के अनुसार अगले 48 घंटे में सिस्टम कमजोर पड़ जाएगा। हल्की बूंदाबांदी की संभावना है। आसमान साफ होने के बाद कोहरा दस्तक देगा।
जानकारों के मुताबिक ठंड नहीं पड़ने की वजह से रबी व सब्जी की फसल पर विपरीत असर पड़ रहा था, लेकिन अब फसलों को फायदा होगा। वहीं बादलों भरा मौसम ऐसा ही बना रहा तो अफीम की फसल को नुकसान होने की आशंका है।
झाबुआ: जिले के कुछ क्षेत्रों में थोड़ी देर तेज बारिश हुई। झकनावदा में ईंट भट्टे गल गए।
नीमच: सोमवार रात से जारी रिमझिम का दौर मंगलवार को भी बना रहा। न्यूनतम तापमान 14 डिग्री रहा।
धार: राजगढ़ मंडी में खुले में पड़ी सोयाबीन बूंदाबांदी से हल्की भीग गई।
खंडवा: दिनभर बादल छाए रहे। ओंकारेश्वर में शाम को बूंदाबांदी हुई।
बुरहानपुर: कोहरे के चलते कई ट्रेनें देरी से पहुंची।
खरगोन: जिले के कई क्षेत्रों में बारिश हुई।
बड़वानी: पहले बूंदाबांदी और फिर रिमझिम बारिश से मौसम सर्द हो गया।
मंदसौर: सोमवार रात से शुरू हुई रिमझिम मंगलवार को भी जारी रही।
शाजापुर: दिन के पारे में 4.5 डिग्री तक की गिरावट आई।
आगर: कुछ स्थानों पर हल्की बारिश हुई। मंगलवार को दिनभर मौसम सर्द रहा।
इंदौर: तेज रफ्तार सर्द हवा और बूंदाबांदी ने शहर को हिल स्टेशन में तब्दील कर दिया। दिन का पारा 4 डिग्री लुढ़ककर 22.7 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया।
रतलाम: जिले में मावठे और कोहरे के कारण रेल और सड़क यातायात पर असर पड़ा है।
उज्जैन: जिले में दिनभर हल्की बारिश होती रही। देर रात तक सर्द हवा से लोग ठिठुरे। दिन का तापमान 6 डिग्री लुढ़का।
देवास: जिले में मंगलवार दिनभर बादल छाए रहे, वहीं दोपहर 3.45 बजे घना अंधेरा छा गया और हल्की बारिश शुरू हो गई। शाम तक बूंदाबांदी का क्रम चलता रहा।
ग्वालियर: मंगलवार को बूंदाबांदी से अधिकतम तापमान में 5.2 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आ गई।