महेंद्र सिंह धौनी ने शनिवार को पहली वैश्विक क्रिकेट अकादमी शुरू की

दो बार के विश्व कप विजेता कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने शनिवार को यहां अपनी पहली वैश्विक क्रिकेट अकादमी शुरू की। दुबई के पेसिफिक स्पोर्ट्स क्लब और आरका स्पोर्ट्स क्लब के साथ शुरू की गई अकादमी पिछले कुछ महीने से अल कुओज के स्प्रिंगडेल्स स्कूल में कार्यरत है।
एमएस धौनी क्रिकेट अकादमी (एमएसडीसीए्र) में भारत से कोच आकर बच्चों को प्रशिक्षण देंगे। अकादमी में चार टर्फ, तीन सीमेंट और तीन मैट की पिचें हैं। यहां क्रिकेट के अच्छे उपकरण उपलब्ध कराने की और वीडियो विश्लेषण की भी सुविधा है।
धौनी ने उत्साही प्रशिक्षुओं और उनके माता-पिता की मौजूदगी में इस अकादमी को लांच किया। इस अकादमी में नियमित आधार पर मैचों का आयोजन किया जाएगा। कोचिंग स्टाफ की अगुआई मुंबई के पूर्व गेंदबाज विशाल महादिक करेंगे।
इस मौके पर धौनी ने कहा, ‘इसका हिस्सा बनकर मैं बहुत खुश हूं और इसे कामयाब बनाने में अपनी ओर से पूरा प्रयास करूंगा। क्रिकेट को योगदान देना मेरा सपना रहा है और यह उस दिशा में पहला कदम है।’

भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक आकाश तलाटी की हत्या

भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक आकाश तलाटी की अज्ञात लोगों ने नॉर्थ कैरोलिना में गोली मार कर हत्या कर दी। 40 वर्षीय आकाश आनंद आर्ट्स कॉलेज के पूर्व प्रिंसिपल रमेश पटेल के इकलौते बेटे थे।
वो मूल रूप से गुजरात के आनंद के रहने वाले थे। उन्होंने सरदार पटेल यूनिवर्सिटी से बैचलर की डिग्री ली और बाद में अमेरिका ही शिफ्ट कर गए।

दिल्ली से तकरीबन 150 किलोमीटर दूर अलीगढ़ में कार के साथ चालक की भी जलने से मौत

दिल्ली से तकरीबन 150 किलोमीटर दूर अलीगढ़ में युवक के साथ दरिंदगी का सनसनीखेज मामला सामने आया है। जिला मुख्यालय से करीब 18 किलोमीटर दूर हरदुआगंज स्थित साधु आश्रम-पनेठी रोड पर शनिवार सुबह एक स्कोडा कार के साथ चालक की भी जलने से मौत हो गई।
आशंका जताई जा रही है कि व्यक्ति को बैठाकर पेट्रोल डालकर कार में आग लगाई गई है, जिससे उसकी जिंदा जलकर मौत हो गई। कार का नंबर यूपी 16 एएन 3402 है। ये गाड़ी नोएडा के मोहम्मद रिजवान के नाम से पंजीकृत है, जिनका परिवार अब दिल्ली के जामिया नगर इलाके के बाटला हाउस में रहता है।
उनकी पत्नी ने शनिवार को रिजवान की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। कार में आग लगने का कारण पुलिस तलाश रही है। जली हुई कार से पास दो-दो लीटर की बोतलें मिलीं, जिनसे पेट्रोल की गंध आ रही थी। पास ही नमकीन के पाउच पड़े थे। कार में रस्सी व शराब की बोतल टूटी बोतल मिली हैं।
आशंका है कि व्यक्ति को बैठाकर पेट्रोल डालकर कार में आग लगाई गई। सुबह छह बजे हुई घटना से इलाके में सनसनी फैल गई। गांव अलहदादपुर के युवक मॉर्निंग वॉक के लिए साधु आश्रम -पनेठी रोड पर आए, जिन्हें कार में आग की लपटें दिखी। ड्राइविंग सीट पर युवक बैठा था।
प्रधान अर्जुन सिंह की सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई, लेकिन तब तक कार पूरी तरह जल चुकी थी। उसमें बैठा व्यक्ति पूरी तरह जल चुका था। बाद में फोरेंसिक व डॉग स्क्वाड की टीम ने मौके पर पहुंचकर साक्ष्य तलाशे। एसओ डॉ. विनोद सिंह ने बताया कि रास्ते में पड़े टोल प्लाजा में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं।

राजस्थान में इलाज के अभाव में 20 से ज्यादा की मौत डॉक्टरों की हड़ताल आखिर खत्म

राजस्थान में सात दिन से चल रही सरकारी डॉक्टरों की हड़ताल आखिर रविवार देर रात खत्म हो गई। हड़ताल के चलते चिकित्सा व्यवस्था चरमरा गई थी और इलाज के अभाव में 20 से ज्यादा की मौत हो गई थीं।
रविवार को सरकार व हड़ताली डॉक्टरों के बीच करीब नौ घंटे तक चली वार्ता के बाद दोनों पक्षों के बीच सहमति बन गई। इसके बाद डॉक्टरों ने हड़ताल समाप्ति की घोषणा कर दी।
राजस्थान के सरकारी डॉक्टर एक पारी में अस्पताल चलाने, 10 हजार रुपए ग्रेड पे किए जाने, एरियर की वसूली नहीं करने सहित 33 सूत्री मांगों को लेकर सात दिन से हड़ताल पर थे।
सरकारी डॉक्टरों के साथ ही सरकारी मेडिकल कॉलेजों से जुड़े अस्पतालों के रेजिडेंट डॉक्टर भी हड़ताल में शामिल हो गए थे।
सरकार ने तीन बार डॉक्टरों से वार्ता की, लेकिन नतीजा नहीं निकला। आखिरकार रविवार दोपहर दो बजे से वार्ता का दौर शुरू हुआ, जो रात 11 बजे तक चला।
इस दौरान एक बार वार्ता टूटने की स्थिति भी बनी। सरकार ने वार्तास्थल से ही डॉक्टरों की गिरफ्तारी के इंतजाम भी कर लिए थे, लेकिन रात 11 बजे दोनों पक्षों में सहमति बन गई।
और डॉक्टरों के प्रतिनिधि अजय चौधरी ने हड़ताल समाप्ति की घोषणा कर दी।

राजस्व विभाग ने किया तृतीय श्रेणी अराजपत्रित सेवा भर्ती नियमों में संशोधन

नौ हजार पटवारियों के पद पर भर्ती की प्रक्रिया शुरू करने के साथ ही राजस्व विभाग ने तृतीय श्रेणी अराजपत्रित सेवा भर्ती नियमों में संशोधन कर दिया है। इसके तहत परीक्षा से चयनित पटवारियों को गृह तहसील में पदस्थ नहीं किया जाएगा। चयनित अभ्यर्थियों की जो प्रतीक्षा सूची बनेगी, नए पद बनने की सूरत में इसी में से नियुक्ति की जाएगी। प्रतीक्षा सूची डेढ़ साल तक कानूनी तौर पर मान्य की जाएगी।
राजस्व विभाग के अधिकारियों ने बताया कि नए पद बनाने के बाद प्रदेश में पटवारियों की संख्या 11 हजार 622 से बढ़कर 19 हजार 20 हो जाएगी। नियमों में संशोधन करके पदों की संख्या को भी बढ़ा दिया गया है। भर्ती 9 हजार से ज्यादा पदों के लिए हो रही है।
प्रतियोगी परीक्षा के बाद एक मेरिट सूची बनाई जाएगी। इसके आधार पर चयनित अभ्यर्थी ने जिले की जो प्राथमिकता दी है, उसके हिसाब से काउंसलिंग होगी। दस्तावेजों की जांच के लिए कलेक्टर समिति बनाएंगे। समिति पात्र अभ्यर्थियों की चयन सूची तैयार करेगी। नियमों में यह भी साफ कर दिया गया है कि कोई अभ्यर्थी, जिसके विरुद्ध किसी अपराध में दोष सिद्ध हुआ हो या आपराधिक प्रकरण दर्ज है, वो सेवा में नियुक्ति के लिए पात्र नहीं होगा।