रीयल मैड्रिड ने दी बोरुसिया डॉर्टमंड को 3-1 से शिकस्त

स्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रानोल्डो के दो गोल (डबल) के दम पर रीयल मैड्रिड ने चैंपियंस लीग फुटबॉल में बोरुसिया डॉर्टमंड को 3-1 से शिकस्त दी। इस जीत के साथ रीयल मैड्रिड छह अंकों के साथ गुप ‘एच’ में दूसरे स्थान पर है, जबकि डॉर्टमंड बिना खाता खोले तीसरे नंबर पर है।
150वां यूरोपियन मैच खेलने उतरे रोनाल्डो इस सत्र में चैंपियंस लीग के दो मैचों में चार गोल दाग चुके हैं। डॉर्टमंड की सात यूरोपियन मैचों में रीयल के खिलाफ अपने घर में यह पहली हार है। गेरेथ बेल ने दानी के पास पर 18वें मिनट में शानदार गोल कर रीयल मैड्रिड का खाता खोला।
पहले हाफ तक रीयल मैड्रिड 1-0 से आगे रहा। दूसरे हाफ की शुरुआत में 50वें मिनट में रोनाल्डो ने बेल की मदद से गोल करके टीम को 2-0 से आगे कर दिया। हालांकि चार मिनट बाद ही पियरे-एमेरिक आउबामेयांग ने कास्ट्रो के पास पर गोल करके डॉर्टमंड का स्कोर 1-2 कर दिया। रोनाल्डो ने मोड्रिक के पास पर 79वें मिनट में गोल कर रीयल मैड्रिड को 3-1 से जीत दिला दी।
‘मैं एक बार फिर रोनाल्डो से खुश हूं। साथ ही गेरेथ बेल ने भी प्रभावित किया। यहां खेलना थोड़ा मुश्किल था, लेकिन यह जीत हमारे लिए महत्वपूर्ण है। डॉर्टमंड ने भी काफी अच्छा खेला, लेकिन हमारे खिलाड़ी उन पर भारी पड़े। हमने अच्छा स्कोर किया। हर किसी ने अपना योगदान दिया।’ – जिनेदिन जिदान, कोच, रीयल मैड्रिड
सिटी जीता, लीवरपूल ने खेला ड्रॉ
अन्य मैचों में मैनचेस्टर सिटी ने यूक्रेन के क्लब शखतर डोनेटस्क को 2-0 से हरा दिया। दोनों टीमों के बीच खेला गया पहला हाफ गोल रहित रहा और दोनों टीमें एक-दूसरे की ताकत का अंदाजा लगाती रही। दूसरे हाफ में मैनचेस्टर की टीम दो गोल दागने में सफल हुई।
केविन डि ब्रूयन ने 48वें मिनट में गोल करके मैनचेस्टर का स्कोर 1-0 कर दिया। इसके बाद रहीम स्ट्रलिंग ने मैच के आखिरी मिनट में गोल करके मैनचेस्टर को 2-0 से जीत दिलाई। मैनचेस्टर सिटी गुप ‘एफ’ में छह अंक लेकर शीर्ष पर है, जबकि डोनेटस्क तीन अंकों के साथ दूसरे स्थान पर है।
लीवरपूल ने स्पार्टक मास्को के साथ 1-1 से ड्रॉ खेला। फर्नांडो ने 23वें मिनट में गोल करके मास्को का खाता खोला लेकिन लीवरपूल के फिलिप कूटिंहो ने 31वें मिनट में गोल करके स्कोर 1-1 कर दिया। इसके बाद दूसरे हाफ में कोई गोल नहीं हुआ।

युगांडा की राजधानी स्थित ससंद में हाथापाई

युगांडा की राजधानी स्थित ससंद में बुधवार को विपक्षी दल के सदस्यों और सुरक्षाकर्मियों में जमकर हाथापाई हो गई। करीब 25 विपक्षी सदस्य राष्ट्रपति योवेरी मुसेवेनी का 75 वर्ष की उम्र के बाद भी कार्यकाल बढ़ाए जाने के लिए प्रस्तावित संविधान संशोधन विधेयक का विरोध कर रहे थे।
यह विरोध इतना बढ़ गया कि सांसद आपस में भिड़ गए। कई सांसदों ने कुर्सियों से सदस्यों पर हमला किया। हाथापाई से दो महिला सांसद बेहोश हो गईं। इसके बाद कार्रवाई करते हुए सदन के स्पीकर ने 25 सासंदों को सस्पेंड कर दिया है।
मालूम हो, वर्तमान संविधान के नियम के मुताबिक, पूर्वी अफ्रीकी देशों में राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार की आयु सीमा 75 साल है। युगांडा में मुसेवेनी 1986 से पद पर हैं और वर्तमान में उनकी उम्र 73 साल है।

पति के शहीद होने के बाद अब पत्नी बनने वाली है सैन्य अफसर

इसी जज्बे से सरहदें सलामत हैं। फौजी पति के देश के लिए शहीद होने के बाद अब पत्नी सैन्य अफसर बनने वाली है। दून निवासी नीता देशवाल ने आराम की नौकरी ठुकराकर पति की ही तरह फौजी वर्दी को चुना।
अप्रैल 2016 को मणिपुर में उग्रवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में शहीद हुए हरियाणा के झज्जर के मेजर अमित देशवाल की पत्नी नीता देशवाल शॉर्ट सर्विस कमीशन में सेलेक्ट हुई और अब ऑफिसर ट्रेनिंग ऐकेडमी चेन्नई में प्रशिक्षण प्राप्त कर रही हैं। उनके पति को उनके अदम्य साहस के लिए मरणोपरांत सेना मेडल से अलंकृत किया गया है।
क्लेमेनटाउन में बुधवार को गोल्डन-की डिवीजन के तत्वावधान में पश्चिमी कमान का अलंकरण समारोह में लेडी कैडेट नीता ने यह सम्मान ग्रहण किया। पति की शहादत के बाद हरियाणा सरकार ने उन्हें सरकारी नौकरी ऑफर की थी, लेकिन वे अपने पति के नक्शेकदम पर चलना चाहती थी, इसलिए यह ऑफर ठुकरा दिया।
पति की मौत के दो माह बाद वह झज्जर से दिल्ली शिफ्ट हो गई। उन्होंने वहां सर्विस सेलेक्शन बोर्ड की तैयारी शुरू की। नवंबर 2016 में आर्मी सेलेक्शन सेंटर भोपाल ने उन्हें सेना के शॉर्ट सर्विस कमीशन के लिए चुना। उन्हें यह पोस्ट सैन्य विधवाओं के लिए आरक्षित कोटे के तहत मिली।
वह बेटे अर्जुन को भी सेना में अफसर बनाना चाहती हैं। उनका कहना है कि मेरे पति मेरे हीरो थे। उनके लिए सेना ही सब कुछ थी। सेना के साथ जुड़कर उन्हें हर पल अपने पति के साथ होने का अहसास होगा। वह कहती हैं कि मैं आर्मी से दूर होने के बारे में सोच भी नहीं सकती।

कैलादेवी दर्शन जा रहे सात लोगों की दर्दनाक सड़क हादसे में मौत

राजस्थान के धौलपुर जिले में बुधवार तड़के एक दर्दनाक सड़क हादसे में सात लोगों की मौत हो गई, जबकि 12 लोग घायल हो गए। ये सभी लोग पैदल कैलादेवी के दर्शन के लिए जा रहे थे।
धौलपुर के पास सरमथुरा में करौली रोड के खरेह नदी के पास तड़के करीब चार बजे हुए इस हादसे में 4 की मौत घटनास्थल पर ही हो गई और 3 ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। सभी लोग धनोरा रोड बैरा बाग बाड़ी के निवासी है।
सभी मंदिर में झंडा चढ़ाने के लिए जा रहे थे। इसी दौरान तेज बोलेरो कार ने पहले एक व्यक्ति को कुचला। यह व्यक्ति ध्वज लेकर चल रहा था। ध्वज का डंडा बोलेरे में फंसा और बोलेरे अनियंत्रित हो गई। इसने आगे चल रहे अन्य यात्रियों को भी कुचल दिया।
पुलिस ने कहा कि चार लोगों के शव सरमथुरा सीएचसी में रखे हैं। जबकि तीन की मौत करौली में उपचार के दौरान हो गया। बोलेरो चालक पर मामला दर्ज कर लिया गया और जांच जारी है। पुलिस ने कहा कि आरोपी बोलेरो चालक को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।

आर्केलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की टीम ने सौंपी रिपोर्ट भांग अर्पित करने से कोई नुकसान नहीं

विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में भगवान महाकाल को विजया यानी भांग अर्पित करने से कोई नुकसान नहीं हो रहा है। भांग में ऐसे तत्व मौजूद हैं, जिनसे ज्योतिर्लिंग को क्षरण का कोई खतरा नहीं है।
यह बात आर्केलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की टीम ने सुप्रीम कोर्ट में प्रस्तुत करने के लिए भारत सरकार के अतिरिक्त महाअधिवक्ता को सौंपी रिपोर्ट में कही है। इससे भगवान महाकाल को भांग का भोग लगाने और अवंतिकानाथ का भांग से श्रृंगार करने का रास्ता साफ हो गया है।
12 ज्योतिर्लिंगों में सिर्फ विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में भगवान का भांग से श्रृंगार करने की परंपरा है। पुजारी तड़के भस्म आरती में, श्रावण-भादौ मास में संध्या आरती और त्योहारों पर भगवान का भांग से श्रृंगार करते हैं। इसको लेकर बीते दिनों उज्जयिनी विद्वत परिषद ने सवाल उठाए थे।
परिषद में शामिल विद्वानों का कहना था कि भगवान शिव को भांग चढ़ाने का शास्रोक्त विध्ाान नहीं है। भगवान का भांग से श्रृंगार करने से ज्योतिर्लिंग को नुकसान पहुंच रहा है। परिषद के इस मत का शंकराचार्य और अन्य विद्वानों ने विरोध किया था।
इनका कहना था कि भगवान शिव को भांग अर्पित करने का उल्लेख वेद में भी है। भांग से शिवलिंग को कभी नुकसान नहीं हो सकता है। अब एक्सपर्ट ने अपनी रिपोर्ट में भी इस बात की पुष्टि की है।