आधार आईडी धारक को देना होगा होम सर्कल के बाहर सिम कार्ड खरीदने के दौरान लोकल रेफरेंस

एक आधार आईडी धारक को अपने होम सर्कल के बाहर सिम कार्ड खरीदने के दौरान लोकल रेफरेंस देना होगा। इसमें वहां के रहने वाले लोकल रेफरेंस का नाम, पता और कॉन्टेक्ट नंबर देना होगा। दूरसंचार विभाग ने सभी दूरसंचार कंपनियों को जारी किए गए नए निर्देश में यह जानकारी दी है।
उदाहरण के लिए यदि कोई व्यक्ति दिल्ली (सर्कल) का आधार कार्ड धारक है, तो उसे मुंबई (सर्कल) में नया सिम खरीदते समय मुंबई (सर्कल) के किसी व्यक्ति का नाम, पता और कॉन्टेक्ट नंबर देना होगा। ऐसा इसलिए जरूरी किया गया है क्योंकि आधार केवल पहचान का प्रमाण है, जिसमें व्यक्ति का नाम, उसकी उम्र और लिंग के बारे में जानकारी दी होती है, लेकिन वह पता या निवास का प्रमाण नहीं होता है।
दूरसंचार विभाग के निर्देश में कहा गया है कि आउट स्टेशन कस्टमर्स को नया सिम जारी कराने के लिए लोकल रेफरेंस की जरूरत होती है, जिनका आधार कार्ड किसी दूसरे लाइसेंस्ड सर्विस एरिया में बना हुआ है। आउट स्टेशन ग्राहक को सबसे पहले स्थानीय पता मुहैया कराना होगा, जहां वह सिम हासिल करना चाहता है। सेल्स एजेंट द्वारा डिजिटल कस्टमर एक्विजिशन फार्म (सीएएफ) में इसे दर्ज किया जाएगा।
ईकेवायसी की प्रक्रिया और नए सिम कार्ड जारी करने से पहले सीएएफ में लोकल रेफरेंस का पता, नाम और कॉन्टेक्ट नंबर दर्ज किया जाएगा। गौरतलब है कि सीएएफ फॉर्म पेपरलेस है और ई-केवाईसी प्रक्रिया के दौरान डिजिटल फॉर्मेट में बायोमेट्रिक पॉइंट ऑफ सेल (पीओएस) टर्मिनल में दर्ज किया जाता है।
कस्टमर को सिम कार्ड जारी करने से पहले, एजेंट को लोकल कॉन्टेक्ट को फोन करके कस्टमर के निवास की पुष्टि करनी होगी। इसके बाद ही ईकेवाईसी प्रक्रिया को शुरू किया जाएगा। पीओएस टर्मिनल बॉयोमीट्रिक ऑथेंटिकेशन के जरिये ग्राहक की पहचान जैसे उसके नाम, आयु और लिंग की सत्यता की जांच करेगा और सीएएफ फॉर्म में इसे ग्राहक के सिग्नेचर के रूप में माना जाएगा।

किसान आंदोलन के कारण मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने अपना रूस दौरा रद्द कर दिया

प्रदेश में जारी किसान आंदोलन के कारण मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने अपना रूस दौरा रद्द कर दिया है। मिली जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान 18 जून को छह दिनों के लिए रूस जाने वाले थे, लेकिन प्रदेश में बढ़ते किसान आंदोलन और कांग्रेस के आक्रामक रूख को देखते हुए शिवराज ने अपना रूस दौरा रद्द कर दिया है।
गौरतलब है कि 16 जून को ही किसानों ने मंदसौर गोलीकांड के विरोध और अपनी मांगों को लेकर हाईवे जाम कर दिया था। इस दौरान भोपाल में चक्काजाम करने का प्रयास करने वाले किसान नेता शिवकुमार शर्मा (कक्काजी) को भी गिरफ्तार कर लिया था।
वहीं शनिवार को कांग्रेस ने भी चुनावी शंखनाद करते हुए खलघाट में किसान पंचायत करने का ऐलान किया है। इस स्थिति में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विदेश दौरा रद्द करना ही बेहतर समझा।

मध्य प्रदेश के बाद अब राजस्थान में किसान आंदोलन शुरू

महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के बाद अब राजस्थान में किसान आंदोलन शुरू हो रहा है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े भारतीय किसान संघ की ओर से गुरुवार से राजस्थान के 8 बड़े शहरों में महापड़ाव किया जाएगा।
किसान संघ के अध्यक्ष मणिलाल लबाना के अनुसार यह महापड़ा व तब तक जारी रहेगा जब तक कि सरकार किसानों की मांगों पर कोई लिखित ठोस आश्वासन नहीं देती। उधर किसान आंदोलन को देखते हुए राजस्थ्ज्ञान सकार ने सभी कलक्टरों व छुट्टियां निरस्त कर दी है और पुलिस को अलर्ट कर दिया हैं।
राजस्थान के आठ शहरों जयपुर, जोधपुर, कोटा, बीकानेर, उदयपुर, भरतपुर, अजमेर और सीकार में किसानों ने जुटना शुरू कर दिया है। संघ हालांकि यह स्पष्ट कर चुका है कि आंदोलन शांतिपूर्ण होगा लेकिन असमाजिक तत्वों के कारण कोई विवाद हुआ तो संघ के अनुसार उसकी कोई जिम्मेदारी नहीं होगी।
दूसरी और राज्य सरकार किसान आंदोलन को देखते हुए अलर्ट पर है। प्रदेश के सभी पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के अवकाश रद्द कर दिए गए है।

5181 करोड़ की लागत से बनी कोच्चि में मेट्रो ट्रेन सेवा का शुभारंभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को 5181 करोड़ की लागत से बनी कोच्चि में मेट्रो ट्रेन सेवा का शुभारंभ किया। इसके बाद उन्होंने इस मेट्रो की सवारी भी की। इस दौरान उनके साथ मेट्रो मेन ई श्रीधरन भी मौजूद थे। पीएम ने वह पलारीवट्टोम से ट्रेन में सवार होंगे और पथदिप्पलम तक मेट्रो के सफर का आनंद लिया।
जानकारी के अनुसार इस मेट्रो रूट की कुल लंबाई 27 किमी है जिस पर 22 स्टेशन होंगे। प्रधानमंत्री ने कोच्चि मेट्रो की लाइन-1 के 13 किलोमीटर के अलुवा-पलारीवट्टोम खंड पर व्यवसायिक सेवाओं का उद्घाटन कर दिया है।
उद्घाटन के दौरान केंद्रीय शहरी विकास मंत्री एम. वेंकैया नायडू, केरल के राज्यपाल पी. सदाशिवम, मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन, केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला, एरनाकुलम के सांसद के वी थॉमस और मेट्रो मैन ई. श्रीधरन प्रधानमंत्री के साथ मौजूद थे।