साइना नेहवाल को पहले ही दौर में करना पड़ा हार का सामना

भारत की शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने वुहान में बैडमिंटन एशिया चैंपियनशिप में जीत के साथ शुरुआत की है। लंदन ओलिंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल को पहले ही दौर में हार का सामना करना पड़ा।
महिला एकल वर्ग के पहले दौर में बुधवार को सिंधु ने मलेशिया की बैडमिंटन खिलाड़ी सोनिया चेह को सीधे सेटों में 21-8, 21-18 से हराकर दूसरे दौर में प्रवेश किया। जापान की सयाका साटो ने सातवें क्रम की साइना को 19-21, 21-16, 21-18 से हराकर टूर्नामेंट से बाहर का रास्ता दिखाया।
पुरुष वर्ग में भारत के अजय जयराम ने अपने पहले दौर में उलटफेर कर पांचवें क्रम के चीनी खिलाड़ी तियान हुवेई को संघर्षपूर्ण मैच में 21-18, 18-21, 21-19 से हराकर दूसरे दौर में प्रवेश किया।
भारत की मिश्रित युगल जोड़ी प्रणव जैरी चोपड़ा और एन. सिक्की रेड्डी को पहले दौर में चीन की शीर्ष वरीय जोड़ी झेंग सिवेई और चेन किंगचेन के हाथों 21-15, 14-21, 21-16 से हार झेलनी पड़ी।

कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने कर लिया दिनदहाड़े 24 कार्यकर्ताओं का अपहरण

सिंधी राष्ट्रवादी संगठन जीई सिंध मुत्ताहिदा महाज (जेएसएमएम) ने कहा है कि पाकिस्तान के कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने दिनदहाड़े उनके 24 कार्यकर्ताओं का अपहरण कर लिया है। अब तक इन लोगों का कुछ पता नहीं लग पाया है। जानकारी के मुताबिक लापता कार्यकर्ताओं की उम्र 19 से 45 साल तक की है। जेएसएमएम सिंध प्रांत की एक राष्ट्रवादी, लोकतांत्रिक और धर्मनिरपेक्ष राजनीतिक पार्टी है, जो पाकिस्तान अधिकृत सिंध की आजादी में विश्वास रखती है।
यह संगठन धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र और सिंध की स्वतंत्रता के रूप में सिंधियों की ऐतिहासिक पहचान की मांग कर रहा है। यह पार्टी स्वतंत्रता अभियान भी चलाती है और ‘सिंध विरोधी’ योजनाओं और पाकिस्तानी सेना की योजनाओं के खिलाफ राजनीतिक जुलूस व विरोध प्रदर्शन करती है।
जेएसएमएम पाकिस्तान को एक ‘ईश्वरवादी कट्टरपंथी, साम्राज्यवादी उपनिवेशिक और गैरजिम्मेदार राज्य’ मानता है जो उसके महासंघ में राष्ट्र के लोगों का शोषण करता है। यह वैश्विक अंतरात्मा के साथ मजबूत कूटनीति के माध्यम से सिंध के स्वतंत्रता और अधिकारों के लिए दृढ़ संघर्ष में विश्वास करता है।

शिमला एयरपोर्ट से देश की सबसे सस्ती हवाई सेवा उड़ान की शुरुआत

पीएम मोदी ने गुरुवार को शिमला एयरपोर्ट से देश की सबसे सस्ती हवाई सेवा उड़ान की शुरुआत की। इसके साथ ही महज ढाई हजार रुपए में आम आदमी हवाई सफर कर सकेगा। पीएम मोदी ने सुबह 11 बजे शिमला के जुब्बड़हट्टी हवाई अड्डे पर पहुचे और यहां उड़ान सेवा का शुभारंभ किया। प्रधानमंत्री ने कडप्पा-हैदराबाद तथा नांदेड़-हैदराबाद के बीच होने वाली इसी स्कीम की दो अन्य उड़ानों को भी हरी झंडी दिखाई।
पीएम ने इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि हवाई सेवा के लिए भारत में सबसे ज्यादा अवसर हैं। पहले हवाई यात्रा धनी लोग किया करते थे लेकिन अब हवाई चप्पल पहनने वाले भी हवाई यात्रा कर सकेंगे। उड़ान योजना के तहत एक घंटे से कम की उड़ान के लिए 2500 रुपए ही देने होंगे।
पीएम बनने के बाद यह मोदी की पहली शिमला यात्रा है। मोदी शिमला के से सस्ती हवाई सेवा के लिए उड़ान स्कीम शुरू करेंगे।
शिमला यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री रिज रोड पर एक रैली को भी संबोधित करेंगे। इससे पहले उन्होंने 2003 में उस वक्त शिमला का दौरा किया था जब वे गुजरात के मुख्यमंत्री थे।
वैसे राज्य के हिसाब से यह हिमाचल प्रदेश का उनका दूसरा दौरा होगा। पिछले साल उन्होंने मंडी में एक रैली को संबोधित किया था। भाजपा में मोदी आठ वर्ष तक हिमाचल मामलों के संगठनात्मक प्रभारी थे और उन्होंने 2002 तक यह भूमिका निभाई थी।
उड़ान (उड़े देश का आम नागरिक) देश के छोटे व मझोले कस्बों को बड़े नगरों तथा परस्पर किफायती हवाई यातायात सुविधा से जोड़ने की स्कीम है।
इसके तहत 500 किमी की विमान यात्रा के लिए 2500 रुपए का किराया वसूला जाएगा। इसके तहत फिक्स विंग विमानों के मामले में यात्रा की अवधि अधिकतम एक घंटे तथा हेलीकॉप्टर के मामले में आधा घंटे मानी गई है।
“उड़ान” की उड़ानें देश के 70 हवाई अड्डों से होंगी।
इनमें 27 व्यस्त, 12 कम उपयोग में आने वाले तथा 31 अप्रयुक्त हवाई अड्डे शामिल हैं। इसके लिए विभिन्न नई, पुरानी एयरलाइनों की तरफ से कुल 27 प्रस्ताव सरकार को प्राप्त हुए हैं।
इनमें 17 एयरपोर्ट उत्तर, 24 पश्चिम, 11 दक्षिण, 12 पूर्व, 6 पूर्वोत्तर भारत तथा 2 केंद्र शासित प्रदेशों में हैं। इससे 22 राज्य व दो केंद्रशासित प्रदेश सस्ती उड़ानों से जुड़ जाएंगे।
16 प्रस्ताव एक-एक रूट पर उड़ान भरने से संबंधित हैं। जबकि 11 प्रस्तावों में एक से अधिक शहरों को जोड़ने की इच्छा जताई गई है। छह प्रस्ताव ऐसे हैं जिनमें किसी तरह की सब्सिडी (वीजीएफ) की मांग नहीं की गई है।
स्कीम के तहत एयरलाइनों को नुकसान की स्थिति में वायबिलटी गैप फंडिंग (वीजीएफ) के तहत सब्सिडी देने की व्यवस्था है। सरकार का अनुमान है कि स्कीम पर सालाना 6.5 लाख सीटों के लिए करीब 200 करोड़ रुपए की सब्सिडी की जरूरत पड़ेगी।

कांग्रेस के महासचिव गुरुदास कामत ने दिया त्यागपत्र

कांग्रेस के दिग्गज नेता व राष्ट्रीय महासचिव गुरुदास कामत ने सभी पदों से त्यागपत्र दे दिया है। एक बयान में उन्होंने बताया कि पिछले सप्ताह वह कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मिले थे और सारी जिम्मेदारियों से मुक्त होने की इच्छा जताई थी।
उनके वक्तव्य से साफ है कि वह अब सक्रिय राजनीति से किनारा कर रहे हैं। कामत ने बताया कि उन्होंने 3 फरवरी को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से आग्रह किया था कि उन्हें जिम्मेदारियों से मुक्त करें।
यह वह तिथि है जब मुंबई में नगर निकाय चुनाव के लिए कांग्रेस के प्रत्याशियों की घोषणा की गई थी। 21 फरवरी को जब परिणाम आया तब भी उन्होंने इस तरह की अपील नेतृत्व से की। उन्होंने पार्टी में अहम जिम्मेदारियां देने के लिए सोनिया व राहुल का आभार जताया है।

108 एंबुलेंस हड़ताल पर एक गर्भवती महिला की मौत

मरीजों को अस्पताल पहुंचाने वाली 108 एंबुलेंस के कर्मचारी गुरुवार को दूसरे दिन भी हड़ताल पर है। उधर बालाघाट में देर रात 108 एंबुलेंस नहीं आने से एक गर्भवती महिला की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक गर्भवती की तबीयत बिगड़ने के बाद 108 नंबर पर परिजनों ने फोन लगाया, इस पर वहां से जवाब मिला कि कुछ ही देर में एंबुलेंस भेज दी जाएगी। लेकिन लंबे समय तक इंतजार करने के बाद भी जब एंबुलेंस नहीं पहुंची तो परिजन महिला को दूसरे साधन से अस्पताल ले जाने लगे, लेकिन रास्ते में ही महिला को डिलेवरी हो गई और जच्चा-बच्चा दोनों ने दम तोड़ दिया।
हड़ताल पर बैठे करीब 3 हजार कर्मचारियों में ड्रावइर व इमरजेंसी मैनेजमेंट टेक्नीशियन (ईएमटी) स्टॉफ शामिल है। 108 एंबुलेंस कर्मचारियों का कहना है कि 8 घंटे की जगह 12 घंटे की ड्यूटी कराई जा रही है। उन्हें 9 हजार से 11 हजार तक वेतन दिया जा रहा है, जबकि दूसरे राज्यों में एंबुलेंस ड्राइवर का वेतन 16 हजार व ईएमटी का 19 हजार है। उन्होंने कहा कि एंबुलेंस का संचालन कर रही जिकित्जा हेल्थ केयर कंपनी ने मांगें नहीं मानी तो हड़ताल जारी रहेगी।