मैं राष्ट्र निर्माण में सहयोग करती हूं तुम राष्ट्र विघटन में

देश में पत्थरबाजी का मुद्दा गर्माया हुआ है। एक निजी चैनल के स्टिंग के बाद राष्ट्रीय मीडिया और सोशल मीडिया पर ये मुद्दे काफी उछल रहा है। शुक्रवार को इस मुद्दे पर राज्यसभा में भी चर्चा होने की उम्मीद है। वहीं अब इस मुद्दे पर कॉमनवेल्थ चैम्पियन बबिता फोगाट ने भी ट्वीट किया है। बबिता ने गुरुवार शाम को इस मुद्दे पर एक पिक्चर ट्वीट की, इस पिक्चर में एक महिला मजदूरी करते हुए दिखाई गई है साथ ही लिखा है कि, ” फर्क बस इतना है, तुमझें और मुझमें…  मुझे पत्थर ढ़ोने पर बमुश्किल 200/300 मिलते है और तुझे पत्थर फेंकने के कम से कम 500, मैं राष्ट्र निर्माण में सहयोग करती हूं तुम राष्ट्र विघटन में…”
पिछले दिनो एक निजी टीवी चैनल ने खुफिया स्टिंग ऑपरेशन में दावा किया गया है कि जम्मू-कश्मीर में स्थानीय नौजवानों को पत्थरबाजी करने के लिए पैसे दिए जाते हैं। इन पत्थरबाजों ने खुफिया कैमरों के सामने स्वीकार किया कि वो नियमित तौर पर पत्थरबाजी करते रहे हैं। एक पत्थरबाज कैमरे के सामने कह रहा था कि वो साल 2008 से ही पत्थरबाज कर रहा है। पत्थरबाज फारूख अहमद लोन ने बताया कि उसे इस काम के लिए 500 से पांच हजार रुपये तक मिलते हैं। पत्थरबाज ने कबूल किया कि हिज्बुल मुजाहिद्दीन के उग्रवादी बुरहान वानी की मौत के बाद हुए हुए हिंसक प्रदर्शनों के दौरान भी उसने पत्थरबाजी की थी।

मध्यप्रदेश में हुई ट्रैन विस्फोट की घटना के तार लखनऊ में मारे गए आतंकी से जुड़े हो सकते है

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह लखनउ में आईएसआईएस के एक संदिग्ध आतंकवादी के मारे जाने और मध्य प्रदेश के शाजापुर में ट्रेन में विस्फोट की घटना पर कल संसद में बयान दे सकते हैं। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि गृह मंत्री लखनउ और शाजापुर की घटनाओं पर संसद में विस्तृत बयान दे सकते हैं। बजट सत्र का दूसरा चरण कल शुरू होगा। बीती रात लखनउ के एक घर में छिपे संदिग्ध आईएसआईएस आतंकवादी को करीब 12 घंटे चले अभियान के बाद मार गिराया गया।
पुलिस ने कहा कि मध्य प्रदेश में कल ट्रेन में विस्फोट की घटना के तार लखनउ में मारे गए आतंकी संदिग्ध सैफुल्ला से जुड़े हो सकते हैं। शाजापुर में भोपाल-उज्जैन यात्री ट्रेन में आईईडी विस्फोट में दस लोग घायल हो गए थे, जिनमें से तीन की हालत गंभीर है।

उज्जैन बम ब्लास्ट में शामिल एक आतंकवादी ने खुलासे में प्रधान मंत्री की लखनऊ रैली में विस्फोट की असफल कोशिश की

उज्जैन ट्रेन धमाके में कथित रूप से शामिल आई.एस. से प्रेरित एक आतंकी मॉड्यूल ने पिछले वर्ष दशहरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लखनऊ में हुई रैली में विस्फोट करने की कोशिश की थी जो असफल रही। इस रहस्य का खुलासा मोहम्मद दानिश और आतिफ मुजफ्फर की पूछताछ के दौरान हुआ। ये दोनों फिलहाल राष्ट्रीय जांच एजैंसी (एन.आई.ए.) की हिरासत में हैं।
दानिश ने अपने बयान में कहा है कि यह समूह ‘चरमपंथ के प्रभाव के स्तर को जानने के लिए’ विस्फोट करने को बेसब्र हो रहा था और इस प्रक्रिया के दौरान समूह ने विभिन्न स्थानों पर बम लगाने के कई असफल प्रयास भी किए थे। उसने बताया कि आतंकी समूह के स्वयंभू आमिर (प्रमुख) आतिफ मुजफ्फर ने स्टील की पाइपों और बल्बों की मदद से एक बम भी तैयार किया। आतिफ ने भी दानिश के इस बयान की पुष्टि की है। वहीं दानिश ने 11 मिनट में ही बम लगाकर वापिस लौट गया था।

लोकसभा में जीएसटी संबंधी चार बिल मंजूर

देश को एक बाजार के रूप में पिरोने और अब तक के सबसे बड़े अप्रत्यक्ष कर सुधार के लिए मील का पत्थर माने जा रहे वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से जुड़े चार विधेयकों को लोकसभा ने बुधवार को ध्वनिमत से पारित कर दिया। सरकार का जीएसटी को इस साल एक जुलाई से लागू करने का लक्ष्य है। चार विधेयकों केंद्रीय जीएसटी विधेयक, एकीकृत जीएसटी विधेयक, केंद्रशासित क्षेत्र जीएसटी विधेयक और जीएसटी (राज्यों को क्षतिपूर्ति) विधेयक पर सदन में दिन भर चली चर्चा के बाद विपक्ष की आपत्तियों का जवाब देते हुये वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि इनके कानून बनने से पूरा देश एक बाजार के रूप में स्थापित हो जायेगा और वस्तुओं की निर्बाध आवाजाही सुनिश्चित हो सकेगी तथा एक सरल कर व्यवस्था लागू होगी जिसका उल्लंघन करना आसान नहीं होगा। उन्होंने कुछ विपक्षी सदस्यों की इस आशंका को निर्मूल बताया कि जीएसटी परिषद को कर की दर तय करने का अधिकार देने से इस मामले में संसद की संप्रभुता समाप्त हो जायेगी। उन्होंने कहा परिषद का काम सिर्फ सिफारिश करना है जबकि सिफारिशों पर अमल के लिए कानून संसद और राज्य विधानसभाएं ही बनायेंगी। जीएसटी में कर के चार स्लैब तय किये गये हैं। पहला स्लैब शून्य प्रतिशत का है जिसमें मुख्य रूप से खाद्यान्न तथा अन्य जरूरी पदार्थों को रखा जायेगा। दूसरा स्लैब पांच प्रतिशत का है। मानक स्लैब 12 और 18 प्रतिशत के रखे गये हैं जबकि चौथा स्लैब 28 प्रतिशत का है। जिन वस्तुओं पर अभी 28 प्रतिशत से ज्यादा कर है उसका इससे ऊपर का हिस्सा उपकर के रूप में एकत्रित कर राज्यों की क्षतिपूर्ति के लिए इस्तेमाल किया जायेगा। इसके बाद भी यदि कुछ राशि बचेगी तो वह केंद्र और राज्यों के बीच बांटी जायेगी। केंद्रीय जीएसटी विधेयक में अधिकतम 40 प्रतिशत का प्रावधान रखा गया है। श्री जेटली ने बताया कि किस वस्तु को किसी स्लैब में रखना है इस पर जीएसटी परिषद् अगले महीने से काम शुरू कर देगी। शराब को विधेयक के दायरे से बाहर रखा गया है। पेट्रोलियम उत्पाद विधेयक के दायरे में हैं, लेकिन उन पर जीएसटी के तहत कर लगाना कब शुरू करना है इसके बारे में फैसला जीएसटी परिषद को बाद में करना है। साथ ही अचल संपत्ति को भी जीएसटी के दायरे में लाने पर चर्चा हुई थी किंतु राज्य सरकारों ने स्टाम्प ड्यूटी से होने वाले राज्सव के नुकसान की आशंका जतायी थी। हालाँकि, दिल्ली सरकार इसके पक्ष में थी। उन्होंने कहा कि परिषद् में यह सहमति बनी थी कि जीएसटी लागू होने के एक साल के भीतर इस पर पुनर्विचार करेंगे। वित्त मंत्री के जवाब के बाद सदन ने चारों विधेयकों को ध्वनिमत से मंजूरी दे दी तथा विपक्षी सदस्यों के दो संशोधनों को मत विभाजन के जरिये और कुछ अन्य को ध्वनिमत से नामंजूर कर दिया। श्री जेटली ने कहा कि अभी उत्पाद कर, सेवा कर, मनोरंजन कर, मूल्य वर्द्धित कर, चुंगी जैसे कई तरह के कर चुकाने पड़ते हैं तथा कारोबारियों को कई दफ्तरों और अधिकारियों के चक्कर लगाने पड़ते हैं। जीएसटी से ये सभी कर एक में ही समाहित हो जायेंगे। कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल के एक कर, लेकिन कई प्रकार के उपकर के आरोप के जवाब में उन्होंने कहा कि जीएसटी लागू करने से राज्यों को होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए उपकर की व्यवस्था सिर्फ पांच साल के लिए लागू की गयी है। यह कर की दर बढ़ाने की तुलना में बेहतर विकल्प है क्योंकि कर बढ़ाने से महंगाई बढ़ती। उन्होंने कहा कि जीएसटी के आने से कर के ऊपर कर नहीं लगेगा जिससे वस्तुओं की कीमतों में थोड़ी कमी आयेगी। साथ ही कारोबारियों को सिर्फ एक ही अधिकारी के पास जाना पड़ेगा। वित्त मंत्री ने कहा कि प्रारंभ में जीएसटी को लेकर राज्यों की अनेक आपत्तियां थीं, लेकिन जीएसटी परिषद् की कई दौर की बैठक के बाद सबका सर्वसम्मति से समाधान ढूंढ़ा गया। जीएसटी परिषद एक स्थायी निकाय है और भविष्य में भी जो भी आपत्तियां होंगी उनका आम राय से इसमें हल निकाला जायेगा और बहुमत की राय नहीं थोपी जायेगी। उन्होंने कहा कि मूल्य वर्द्धित कर व्यवस्था को जब लागू किया गया था तो अनेक राज्यों ने अपने को इसके दायरे से बाहर रखा था, लेकिन धीरे-धीरे सभी ने इसके लाभों को देखते हुये इसे स्वीकार कर लिया था। अनेक कर स्लैबों के बारे में विपक्ष की आपत्ति पर श्री जेटली ने कहा कि हवाई चप्पल और बीएमडब्ल्यू कार पर एक समान कर नहीं लगाया जा सकता। आम आदमी और धनाढ्य वर्ग के इस्तेमाल की चीजों पर कर की दर एक रखना उचित नहीं होगा। यह देखना जरूरी है किस सामान का उपयोग कौन सा वर्ग करता है। इन विधेयकों को धन विधेयक के रूप में पेश किये जाने से जुड़ी आपत्तियों पर वित्त मंत्री ने कहा कि 1950 में संविधान लागू होने के बाद से आज तक ऐसा कभी नहीं हुआ जब कराधान संबंधी विधेयक को धन विधेयक के रूप में न लाया गया हो। मुनाफा निरोधी प्रावधान पर उन्होंने कहा कि इसका मकसद यह है कि कर में मिलने वाली रियायतों को निर्माता अपनी जेब में न डालकर उसका लाभ उपभोक्ताओं को दें। उन्होंने इस तर्क को गलत बताया कि नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग) को जीएसटी से जुड़े मामलों की जांच करने का अधिकार नहीं होगा। उन्होंने कहा कि कैग को संविधान से और उसके अपने अधिनिमय से अधिकार मिला हुआ है। उसे कराधान कानूनों से शक्तियां नहीं मिलती हैं। कुछ सदस्यों की इस आपत्ति पर कि विधेयकों में कृषक की परिभाषा पूर्ण नहीं है क्योंकि इसमें सिर्फ खेती करने वालों की बात कही गयी है और डेयरी उद्योग और मुर्गी पालन को इसमें नहीं रखा गया है, वित्त मंत्री ने कहा कि इस परिभाषा सिर्फ पंजीकरण के उद्देश्य से है। लगभग सभी कृषि उत्पादों को शून्य प्रतिशत के स्लैब में ही आने की संभावना है।

ग्रीस दिवालिया होने की कगार पर

ग्रीस  बीते कुछ सालों से आर्थिक संकट से जूझ रहा है. लगातार संकट गहराने की वजह से कभी दुनिया जीतने का सपना देखने वाला यह देश दिवालिया होने की कगार पर आ खड़ा हुआ है. ग्रीस पर अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) का 11 लाख करोड़ रुपये का कर्ज चढ़ चुका है. आईएमएफ ने ग्रीस को 12 हजार करोड़ रुपये की पहली किश्त चुकता करने के लिए 30 जून तक की मोहलत दी थी.
आईएमएफ ने ग्रीस के सामने कुछ शर्तें रखी हैं और यदि वह उन शर्तों को नहीं मानता है तो वह यूरोपियन यूनियन और यूरो जोन से बाहर हो सकता है. ग्रीस की लगातार कोशिशों के बाद भी आईएमएफ कर्ज चुकाने की मोहलत बढ़ाने को राजी नहीं हो रहा है. ग्रीस के प्रधानमंत्री एलेक्सिस सिप्रास ने देश के बैंकों को 7 दिन तक बंद रखने का ऐलान किया है. वहां के लोगों को एटीएम से सिर्फ 60 यूरो तक ही निकालने की इजाजत दी गई है. साथ ही सभी विदेशी लेनदेन पर भी पाबंदी लगा दी गई है. आम लोग इस बात से चिंतित हैं कि अगर यूरो को पुरानी करेंसी ड्रैकमा में तब्दील कर दिया गया तो उनकी मुद्रा की कोई कीमत नहीं रह जाएगी.
इधर ग्रीस के कर्ज में डूबने की वजह से भारत सहित हांगकांग और जापान के शेयर बाजारों में भारी गिरावट दर्ज की गई. जानकारों का मानना है कि ग्रीस में आए इस संकट का भारतीय अर्थव्यवस्था पर लंबी अवधि में कोइ फर्क नहीं पड़ेगा. इस संकट की वजह 1999 में आए भीषण भूकंप को माना जा रहा है. इस भूकंप के बाद 50000 इमारतों का पुनर्निर्माण सरकारी पैसे से कराया गया था. ग्रीस पर 2004 के ओलंपिक खेलों में जरूरत से ज्यादा पैसा खर्च करने के भी आरोप हैं. अगर वह आईएमएफ का कर्ज चुकाने में नाकाम रहा तो उसे 21वीं सदी का पहला डिफॉल्टर देश बनने से कोई नहीं बचा पाएगा. आईएमएफ ने कर्ज चुकाने की मियाद बढ़ाकर 20 जुलाई घोषित की है. डिफॉल्टर घोषित होने पर उसे अपनी पुरानी मुद्रा ड्रैकमा लागू करनी होगी.

पीवी सिंधु, साइना नेहवाल ने इंडिया ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट के महिला सिंगल्स के दूसरे दौर में प्रवेश किया

ओलिंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु, साइना नेहवाल ने इंडिया ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट के महिला सिंगल्स के दूसरे दौर में प्रवेश किया। भारत के समीर वर्मा ने कोरियाई खिलाड़ी सोन वान हो को आसानी से पराजित कर दूसरे दौर में जगह बनाई।
रियो ओलिंपिक की रजत पदक विजेता सिंधु ने हमवतन अरूंधति पंतावने को 21-17, 21-6 से हराकर दूसरे दौर में जगह बनाई। अब उनका मुकाबला गैरवरीयता प्राप्त जापान की सेइना कावाकुमी से होगा।
लंदन ओलिंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना ने चीनी ताइपे की चिया सिन ली को 21-10, 21-17 से हराया। साइना ने स्वीकारा कि उन्होंने दूसरे गेम में कई अनावश्यक अंक गंवाए।
सैयद मोदी ग्रांप्रि खिताब जीतने वाले समीर वर्मा ने चौथे क्रम के कोरियाई खिलाड़ी सोन को 21-17, 21-10 से हराकर उलटफेर किया। यह मुकाबला 45 मिनट चला। अब उन्हें हांगकांग के हू युन से भिड़ना होगा। बी साई प्रणीत ने जापान के केंटा निशिमोटो को 16-21, 21-12, 21-19 से हराया। अब उनका मुकाबला सातवें क्रम के चोऊ तियान चेन से होगा।

भारतीय मूल के पिता ने की हथोडी से अपने ही नवजात बेटे की हत्या

यहां कि एक अदालत में भारतीय मूल के एक आदमी पर अपने एक वर्षीय बेटे की हत्या और उसकी जुड़वां बहन की हत्या के प्रयास का आरोप लगा है। एक साल की बच्ची पर पिता विद्या सागर दास ने हथौड़ा से हमला किया, जिसमें उसकी आंखों की रोशनी चली गई है और अब वह आंशिक रूप से सुन सकती है।
स्कॉटलैंड यार्ड ने 18 मार्च को उत्तर-पूर्व लंदन के हैकिन क्षेत्र के एक फ्लैट में गंभीर हालत में दो बच्चों को पाया था। इसी के बाद से ही पुलिस ने बड़े पैमाने पर दास की तलाश शुरू की थी। आखिर में 33 वर्षीय दास को गिरफ्तार कर लिया गया। बच्ची मारिया को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया था।
अब पता चला है कि वह देख नहीं सकती है और इस घटना के बाद उसे केवल थोड़ा-थोड़ा सुनाई देता है। जुड़वां बच्चों की मां क्रिस्टिनला के एक मित्र ने बताया कि हम सभी प्रार्थना कर रहे हैं कि मारिया की नजर जल्दी वापस आ जाए और वह हलमें में स्थायी रूप से अंधे नहीं हुई हो। मारिया के साथ क्रिस्टिनला अस्पताल में बैठती है। वह मारिया की सर्जरी के बाद उसका स्वास्थ्य पूरी तरह से सही होने के लिए प्रार्थना करती हैं।
इस तरह के छोटे बच्चे के लिए सिर की चोटों में काफी मुश्किलें होती हैं। मेट्रोपॉलिटन पुलिस की हत्या और मेजर क्राइम कमांड इस क्रूर हमले की जांच कर रही है। जुड़वां बच्चे लंदन के फिन्सबरी पार्क के पास विलबरफोस रोड पर इमारत के टॉप फ्लोर पर रहते थे।
बच्चों की मां क्रिस्टिनला रोमानियाई मूल की और पिता विद्या सागर भारतीय मूल के हैं। दास एक होटल में रिशेप्शनिस्ट का काम करता था और हाल ही में उसने वहां से नौकरी छोड़ दी थी। माना जा रहा है कि दास ने बच्चों पर हथौड़े से हमला करने के दौरान मां को बाथरूम में बंद कर दिया था।

सूर्यदेव के तीखे तेवर आसमान से बरस रही आग

समूचा देश इस समय प्रचंड गर्मी से झुलस रहा है। मार्च में ही सूर्यदेव के तेवर तीखे नजर आ रहे हैं और आसमान से आग बरस रही है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्यप्रदेश, झारखंड, हरियाणा सहित कई राज्यों में पारा मार्च महीने में 38 डिग्री पार कर गया है।
अचानक मौसम में हुए बदलाव के बाद नित नए रिकॉर्ड टूट रहे हैं। दिल्ली में सात साल बाद मार्च में इतनी गर्मी पड़ी, तो देहरादून में 2001 के बाद मार्च मे इतनी गर्मी हो रही है। दिल्ली में बुधवार को गर्मी ने सात साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। पालम में अधिकतम तापमान 39.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। गर्म हवा के थपेड़े भी पड़े।
वर्ष 2010 में मार्च में पारा 39.2 डिग्री सेल्सियस तक गया था। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, आसमान साफ होने से भी अधिकतम और न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी हुई। बुधवार को औसत अधिकतम तापमान सामान्य से 6 डिग्री सेल्सियस अधिक (38.2) और औसत न्यूनतम तापमान सामान्य से 5 डिग्री सेल्सियस अधिक (23.1) दर्ज किया गया।
उत्तर प्रदेश में तापमान उछल कर सामान्य से छह डिग्री सेल्सियस ज्यादा पहुंच गया है। बीते तीन-चार दिनों से लगातार बढ़ रहा तापमान बुधवार को अपने सर्वाधिक स्तर पर रिकॉर्ड किया गया। बांदा 43.2 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे गर्म रहा, वहां तापमान सामान्य से छह डिग्री अधिक दर्ज किया गया।
झांसी में तापमान 42.1 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से छह डिग्री अधिक है। इलाहाबाद, वाराणसी, हमीरपुर, आगरा में भी पारा 40-41 डिग्री के बीच रिकॉर्ड किया गया। लखनऊ व कानपुर में पारे ने बीते कई साल के रिकॉर्ड तोड़ दिए, वहां तापमान 39 डिग्री के पार पहुंच गया।
रेवाड़ी में 40 तो हिसार में 39 डिग्री दर्ज हुआ तापमान
बुधवार को हरियाणा के रेवाड़ी का अधिकतम तापमान 40 डिग्री और हिसार का तापमान 39 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मार्च माह में ही इतना तापमान होने से लोगों को जून महीने की याद आ गई। प्रदेश में बीते तीन दिन से अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है। तापमान में हो रही इस लगातार की बढ़ोतरी की वजह से गेहूं की फसल भी तय समय से पहले पक गई है।
झारखंड में 42 डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंचा पारा
झारखंड में भी गर्मी ने अपने तेवर दिखा रही है। मार्च महीने में रिकॉर्ड तोड़ और आग उगलती गर्मी ने लोगों का जीना दुश्वार कर दिया है। झारखंड का पारा 42 डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंच गया है। बुधवार को सबसे गर्म दिन जमशेदपुर व पलामू का रहा।
यहां अधिकतम तापमान 41.6 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। राज्य के छह जिले ऐसे रहे जहां का अधिकतम तापमान 40 डिग्री को पार कर गया तो अन्य जिले भी पीछे नहीं रहे। चेहरे को झुलसा देनेवाली भीषण गर्मी को देख लोग इसे मिर्च जैसी तीखी बता रहे हैं। राजधानी रांची भी भीषण गर्मी से अछूती नहीं रही।
देहरादून में 16 साल का रिकॉर्ड टूटा
देहरादून में पारे में मार्च में गर्मी का 16 साल का रिकॉर्ड ही तोड़ दिया। अधिकतम तापमान 35.8 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विभाग की मानें तो गुरुवार को देहरादून समेत मैदानी क्षेत्रों में पारे में थोड़ी कमी आएगी। यह 35 डिग्री के आसपास बना रहेगा। राज्यभर में इन दिनों अधिकतम तापमान सामान्य से छह से आठ डिग्री सेल्सियस अधिक चल रहा है।

गुजरात में भी टूटेगा कांग्रेस का सत्ता का सपना – अमित शाह

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि गुजरात में भी सत्ता में आने का कांग्रेस का सपना चकनाचूर होने वाला है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की आंखों पर इटालियन चश्मा लगा है। वहीं मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने हिन्दुत्व एजेंडा को आगे करते हुए गौहत्या रोकने व राममंदिर निर्माण की मांग बुलंद की है।
उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों के चुनावों में भाजपा को मिली प्रचंड जीत के बाद भाजपा की गुजरात इकाई ने राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के स्वागत के लिए साबरमती नदी किनारे विजय विश्वास सम्मेलन का आयोजन किया जिसमें शाह ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को याद करते हुए कहा कि एक दिन भाजपा के दो सांसद होने पर राजीव ने कहा कटाक्ष किया था आज 65 फीसदी देश में भाजपा का शासन है। शाह ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि उनकी आंखों पर इटालियन चश्मा लगा हुआ है।
गुजरात चुनाव को लेकर बिछने लगी बिसात
शाह ने कहा कांग्रेस गुजरात में सत्ता में आने का सपना देख रही है, पर यहां भी उनका सपना चकनाचूर होने वाला है। यूपी में भाजपा ने 300 सीटें जीती है तो गुजरात में 150 सीट जीतकर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को तोहफा देंगे, शाह ने कहा कार्यकर्ता चुनाव के लिए तैयार हों तो वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चुनाव के लिए कह दें। शाह ने गुजरात में मध्यावधि चुनाव की संभावनाओं को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि मोदी का विजय रथ विविध राज्यों में घूमकर नवंबर 2017 को गुजरात में आयेगा। देश ने गुजरात मॉडल को स्वीकार किया है, राज्य में साल में 200 बार कर्फ्यू लगता था आजकल की पीढी कर्फ्यू जानती भी नहीं।
शाह ने कहा मोदी सरकार ने गुजरात को 1 लाख 22 हजार करोड रु दिये हैं, नर्मदा नहर व सरदार सरोवर बांध का निर्माण कार्य पूरा किया है। अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस के जमाने में बेगम बादशाहों का राज चलता था, भाजपा के सत्ता में आने के बाद गुजरात में दंगों व कर्फ्यू का खात्मा हो गया। शाह ने आम आदमी पार्टी पर भी हमला बोला, उन्होंने कहा चुनाव आते ही आप के नेता सक्रिय हो जाते हैं, पंजाब व गोवा में हार के बाद आप को असलियत पता चल गई है, गुजरात की जनता कभी भी इस पार्टी पर भरोसा नहीं करेगी।
मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने हिन्दुत्व एजेंडे की वकालत करते हुए कहा कि अब देश की जनता चाहती है कि अयोध्या में राममंदिर का निर्माण हो, कश्मीेर में धारा 370 हटाई जाए तथा गौहत्या रोकने के लिए कानून बने।
रुपाणी पिछले 8 माह से गुजरात की कमान संभाल रहे हैं उन्होंने यूपी में योगी आदित्य नाथ के सीएम बनने पर खुशी जताते हुए कहा कि देश में मोदी व यूपी में योगी का राज है।
गुजरात में दिसंबर 2017 को विधानसभा चुनाव होंगे लेकिन भाजपा व कांग्रेस दोनों ही प्रमुख दल सीएम प्रत्याशी के ऐलान से बच रहे हैं। इसके पीछे गुजरात में चल रहे जाति व संप्रदाय के आंदोलन हैं। किसी एक समुदाय के नेता को सीएम प्रत्यााशी बनाने पर अन्यी जाति व समुदाय पार्टी से दूर जा सकता है। उधर कांग्रेस भी प्रदेश इकाई में कई दिग्ग‍जों के चलते किसी एक को सीएम उम्मीदवार घोषित करने से बच रही है।
भाजपा अध्यक्ष शाह के सम्मान में आयोजित विजय सम्मेालन के लिए शाही तैयारियां की गई। कांग्रेस व आम आदमी पार्टी का आरोप है कि भाजपा ने सत्ता का दुरूपयोग कर पार्टी के सम्मेलन की तैयारियां की है। अहमदाबाद महानगर पालिका के सरकारी वाहन व कर्मचारी भाजपा के झंडे लगाकर घूम रहे थे वहीं बिजली के खंभों आदि पर लिफ़्ट से पार्टी के झंडे लगा रहे थे। एसटी निगम की चार सौ बसें कार्यकर्ताओं को लाने के लिए लगाने का भी आप ने आरोप लगाया है। पूरे शहर में पार्टी के झंडे व बैनर लगाए गए। साबरमति रिवरफ्रंट को दुल्हन की तरह सजाया गया।

योगी सरकार की नक़ल पर नकेल ५७ परीक्षा केंद्र निरस्त

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर की परीक्षा में सामूहिक नकल कराने वाले केंद्रों पर बोर्ड प्रशासन ने शिकंजा कस दिया है। प्रदेश भर के ऐसे 54 केंद्रों की परीक्षा निरस्त करने का आदेश हुआ है। वहीं, नकल कराने के लिए कुख्यात 57 केंद्रों को परीक्षा से डिबार किए जाने की संस्तुतियां मिली हैं, जबकि तीन परीक्षा केंद्रों की उत्तर पुस्तिकाओं की स्क्रीनिंग कराए जाने का निर्णय लिया गया है।
माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड परीक्षाओं के दौरान जिला प्रशासनिक व शिक्षा विभाग के अफसरों ने परीक्षा केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। इसमें कई जगहों पर सामूहिक नकल व अन्य अनियमितताएं मिली। डीआइओएस ने इस संबंध में रिपोर्ट बोर्ड मुख्यालय को भेजी।
सारा प्रकरण खंगालने के बाद बोर्ड ने सभापति को स्थिति से अवगत कराया और उनकी संस्तुति पर सचिव बोर्ड ने पांच केंद्रों की परीक्षा निरस्त करने का एलान कर दिया है। सचिव ने बताया कि निरस्त विषय व प्रश्नपत्रों की परीक्षाएं जिला मुख्यालय के नवीन परीक्षा केंद्र या फिर जीआईसी में कराई जाएंगी।
निरस्त परीक्षाओं की नई तारीख व केंद्र की सूचना बाद में दी जाएगी। यूपी बोर्ड प्रशासन तीन दिन पहले प्रदेश के पांच केंद्रों की परीक्षा निरस्त कर चुका है।
इन केंद्रों की परीक्षा निरस्त
1. शुभम इंटर कालेज बडग़ोहना खुर्द करमा, इलाहाबाद, 18 मार्च सायं पाली इंटर हिंदी द्वितीय प्रश्नपत्र।
2. श्रीमती विमला देवी इंटर कालेज कृष्ण नगर हरखपुर सोरांव, इलाहाबाद, 20 मार्च सुबह पाली, हाईस्कूल गणित व गृहविज्ञान।
3. आदर्श बालिका उच्चतर माध्यमिक विद्यालय ऊंचडीह बाजार, उरुवा मेजा इलाहाबाद, 21 मार्च, सायं पाली, इंटर भौतिक विज्ञान प्रथम प्रश्नपत्र।
4. मोतीलाल नेहरू इंटर कालेज कौंधियारा, करछना इलाहाबाद 21 मार्च, सायं पाली, भौतिक विज्ञान प्रथम प्रश्नपत्र।
5. मोहम्मद यासीन इंटर कालेज मांडा मेजा इलाहाबाद 20 मार्च, सुबह पाली हाईस्कूल गणित व गृहविज्ञान।
6. किसान जनता कृषि सह शिक्षा समिति इंटर कालेज दुधवां अलीगढ़ 16 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल हिंदी।
7. श्रीमती गुलाबकली बालिका इंटर कालेज बगईखुर्द इलाहाबाद 20 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल गणित गृहविज्ञान।
8. भगवान सिंह इंटर कालेज शंभूचक डोहरिया, इलाहाबाद 20 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल गणित व गृह विज्ञान।
9. महर्षि दयानंद इंटर कालेज लखनी मुबारकपुर, मऊ 21 मार्च सायं पाली इंटर भौतिक विज्ञान प्रथम प्रश्नपत्र।
10. बन अवध इंटर कालेज ललितपुर लुदुही, मऊ 21 मार्च सायं पाली इंटर भौतिक विज्ञान प्रथम प्रश्नपत्र।
11. जय मां विंध्यवासिनी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय ढ़ाढ़ाचवर, मऊ 20 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल गणित व गृहविज्ञान।
12. नेशनल हायर सेकेंडरी स्कूल जहानाबाद फतेहपुर, 23 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल विज्ञान।
13. सार्वजनिक इंटर कालेज गोहका, जौनपुर, 23 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल विज्ञान।
14. लाल बहादुर शास्त्री इंटर कालेज बीबीपुर जौनपुर 23 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल विज्ञान।
15. स्व. राज बहादुर सिंह इंटर कालेज करौरा, जौनपुर 23 मार्च सायं पाली इंटर भौतिक विज्ञान द्वितीय प्रश्नपत्र।
16. कु. विजय लक्ष्मी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय गजाधरपुर बहराइच 23 मार्च सायं पाली भौतिक विज्ञान द्वितीय प्रश्नपत्र।
17. उदयराज सह शिक्षा माध्यमिक विद्यालय चिलाखोर बस्ती 23 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल विज्ञान।
18. बाल विकास संस्थान इंटर कालेज बाबरपुर 20 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल गणित।
19. एसजीएस इंटर कालेज बिधूना औरैया 20 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल गणित।
20. मंगला प्रसाद इंटर कालेज बामपुर मांडा इलाहाबाद 24 मार्च सुबह पाली इंटर इतिहास प्रथम प्रश्नपत्र।
21. मंगला प्रसाद इंटर कालेज इंटर कालेज बामपुर मांडा इलाहाबाद 23 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल विज्ञान।
22. डा. लोहिया इंटर कालेज सागरपुर बवई ऊंझ भदोही 23 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल विज्ञान।
23. एमजीएस एसपीएम इंटर कालेज बिसौली कृपालपुर भदोही 23 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल विज्ञान।
24. बिपिन बिहारी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय होलीपुर गाजीपुर 25 मार्च सायं पाली इंटर रसायन विज्ञान प्रथम प्रश्नपत्र।
25. रक्षा देवी इंटर कालेज खिमसेपुर मोहम्मदाबाद फर्रुखाबाद, 25 मार्च सायं पाली इंटर रसायन विज्ञान प्रथम प्रश्नपत्र।
26. श्रीमती विद्यादेवी इंटर कालेज शांति नगर हमीरपुर आजमगढ़, 23 मार्च सायं पाली इंटर भौतिक विज्ञान द्वितीय प्रश्नपत्र।
27. श्रीमती रत्ती देवी महावीर बालिका इंटर कालेज सुम्हाडीह आजमगढ़ 23 मार्च सायं पाली इंटर भौतिक विज्ञान द्वितीय प्रश्नपत्र।
28. विवेकानंद इंटर कालेज शेखपुर पल्हनी, आजमगढ़ 16 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल हिंदी।
29. रमावती उच्चतर माध्यमिक विद्यालय गतवा भुवालपुर आजमगढ़ 20 मार्च सुबह पाली हाईस्कूल गणित व गृह विज्ञान।
30. मां शारदा इंटर कालेज सराय त्रिलोचन बांसगांव आजमगढ़ 17 मार्च सुबह पाली इंटर गृह विज्ञान प्रथम प्रश्नपत्र।
31. संत कबीर इंटर कालेज परसदा गोंडा 25 मार्च सायं पाली इंटर रसायन विज्ञान प्रथम प्रश्नपत्र।
32. मथुरा प्रसाद उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जवां अलीगढ़ 25 मार्च सायं पाली इंटर रसायन विज्ञान प्रथम प्रश्नपत्र।
यह परीक्षा केंद्र होंगे निरस्त
1. चौधरी कन्ही सिंह इंटर कालेज बिजौली, अलीगढ़ 20 मार्च सुबह पाली।
2. श्री दोदराम सिंह इंटर कालेज दारा नगर पटना कलान शाहजहांपुर, 18 मार्च सायं पाली।
3. श्रीमती मिथिलेश कुमारी इंटर कालेज कलान शाहजहांपुर 20 मार्च सुबह पाली।
4. विद्यावती कन्या इंटर कालेज रूदायन बदायूं, 18 मार्च सुबह पाली।
5. लाल बहादुर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय गोपालपुर बिनैका, प्रतापगढ़ 20 मार्च सायं पाली।
6. श्रीमती मीरा देवी इंटर कालेज बांकी, देवरिया, 20 मार्च सुबह पाली।
7. कौलेश्वर स्मारक इंटर कालेज बेदौली बेलकुंडा आजमगढ़ 21 मार्च सायं पाली।
8. सिद्दीकिया इंटर कालेज कोटवारी बलिया, 21 मार्च सुबह पाली।
9. आदर्श बालिका इंटर कालेज कोईरियापार मऊ, 20 मार्च सुबह पाली।
10. ग्राम समाज उच्चतर माध्यमिक विद्यालय उटवारा अलीगढ़, 21 मार्च सायं पाली।
कॉपियों की स्कीनिंग कराने की तैयारी
1. पंकज स्मारक कन्या इंटर कालेज बहजोई, 20 मार्च सुबह पाली।
2. अजय पाल उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सादातवाड़ी संभल, 20 मार्च सुबह पाली।
3. प्रताप किसान जनता आदर्श इंटर कालेज मझगवां, पटपरागंज, आंवला बरेली, 21 मार्च सुबह पाली।
इंटर विज्ञान में 75 नकलची पकड़े
यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर की परीक्षाओं में अनुचित साधनों के साथ परीक्षार्थियों के पकड़े जाने का सिलसिला जारी है। मंगलवार को हाईस्कूल में मानव विज्ञान का प्रश्नपत्र था इसमें 16 बालक व चार बालिकाएं नकल करते पकड़े गए हैं। वहीं, इंटर की पहली पाली में संगीत गायन, संगीत वादन व नृत्यकला द्वितीय प्रश्नपत्र, सायं पाली में रसायन विज्ञान का द्वितीय व कृषि अर्थशास्त्र का प्रश्नपत्र रहा। इसमें 38 बालक व 17 बालिकाओं समेत कुल 75 अनुचित साधन के साथ पकड़े गए हैं। इसी के साथ नकल के आरोप में पकड़े गए परीक्षार्थियों की संख्या बढ़कर 1419 हो गई है।